नीतीश ने एनआरआई लोगों से किया आग्रह, बिहार में करें निवेश

पटना: बिहार मूल के नन-रेजिडेंट इडियंस (NRI) को आकर्षित करने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने बिहार-झारखंड एसोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका (BJANA) के सदस्यों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बातचीत की। नीतीश (Nitish) ने शनिवार शाम को बीजेएएनए के सदस्यों को बिहार का दौरा करने और यह खुद देखने के लिए आमंत्रित किया कि उन्होंने पिछले 15 वर्षों में राज्य में विकास के लिए क्या किया है।

उन्होंने बिहार में नई औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के लिए भूमि अधिग्रहण (land acquisition) और अन्य आवश्यक अवसंरचना विकास पर हर संभव मदद का वादा भी किया सीएम ने कहा कि बिहार में पिछले 15 वर्षों में बुनियादी ढांचे के विकास के साथ-साथ प्रमुख शहरों के साथ हर गांव और कस्बों तक सड़क संपर्क विकसित किया गया है।

कम समय में लक्ष्य करेंगे पूरा

मुख्यमंत्री ने कहा, “हमने छह घंटे में किसी भी दूरस्थ स्थान से पटना तक पहुंचने का लक्ष्य प्राप्त किया है और अब समय को केवल पांच घंटे तक कम करने का काम कर रहे हैं। दो लेन वाली सड़कों को चार लेन वाली और चार लेन वाली छह लेन वाली सड़कों में परिवर्तित किया गया है।

ये भी पढ़ें : MBA छात्र ने बेरोजगार युवाओं को दिलाया रोजगार, फिर क्यों हुआ गिरफ्तार 

कई नए पुल और सड़क का हुआ निर्माण

नीतीश कुमार ने कहा, “इसके अलावा, कई नए पुल और सड़कें पूरी हो चुकी हैं या 80 से 90 फीसदी पूरी हो चुकी हैं।” मुख्यमंत्री ने कहा, “बिहार सरकार ने ‘हर घर नल का जल’ कार्यक्रम के साथ-साथ ‘स्वच्छ भारत अभियान’ पहल के तहत पीने के पानी की आपूर्ति का 90 प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया है और ये दोनों कार्यक्रम ‘साथ निश्चय पार्ट -2’ के तहत पूरे किए जाएंगे।”

ये भी पढ़ें : दिल्ली के छात्रों के लिए बनेगा अलग शिक्षा बोर्ड और नया पाठ्यक्रम

पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए कर रही कार्य

बिहार सरकार घरेलू और विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पर्यटन क्षेत्र पर भी काम कर रही है। उन्होंने कहा, “हमने पटना, गया, नालंदा, राजगीर, भागलपुर आदि में कई इको पार्क का निर्माण किया है। हमने कुछ दिनों पहले राजगीर में ‘वेणु वन’ का उद्घाटन किया था और अगले कुछ हफ्तों में प्रकृति सफारी, चिड़ियाघर और ‘ग्लास वॉकवे’ बनेंगे।

Related Articles