IPL
IPL

लखनऊ बहराइच मार्ग पर नहीं है कोई अनुबंधित कैंटीन, ढाबा मालिक चूस रहे हैं यात्रियों का खून

बाराबंकी: लखनऊ बहराइच मार्ग पर परिवहन विभाग की कोई भी अनुबंधित कैंटीन न होने से यात्रियों को जलपान की सुविधा ठीक ढंग से नहीं मिल पा रही है। निजी ढाबा संचालक यात्रियों की जेबें ढीली करने में कोई कसर नही छोड़ रहे हैं, जिससे परिवहन विभाग को भी लाखों का नुकसान हो रहा है।

परिवहन विभाग नहीं उठा रहा कोई ठोस कदम

गोंडा बहराइच हाईवे पर रामनगर से लेकर घाघरा घाट तक दर्जनों ढाबे संचालित है। सड़क मार्ग पर बने इन अनधिकृत ढाबों पर यात्रियों को शुद्ध भोजन और जलपान नहीं मिल पाता है। कई बार यात्रियों के द्वारा शिकायत करने पर ढाबे के कर्मचारियों से मारपीट की भी नौबत आ जाती है। इतना ही नही इन ढाबों पर यात्रियों से अधिक कीमत भी वसूली जाती है। जिससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

परिवहन विभाग की बसों को अपने ढाबे पर खड़ी कराने के लिए ढाबा संचालकों द्वारा चालक व परिचालकों को भोजन जलपान की सुविधा भी उपलब्ध कराई जाती है। लेकिन ढाबा संचालक यात्रियों की जेब ढीली करने में भी कोई कसर नही छोड़ते हैं। जबकि परिवहन विभाग सबकुछ जानकर भी अनजान बना हुआ है।

ये भी पढ़ें: यूपी पुलिस में 27 एडिशनल एसपी के हुए ट्रांसफर, देखें पूरी लिस्ट

गौरतलब है कि नया हाईवे बनने से पूर्व गनेशपुर मोड़ पर परिवहन विभाग की कैंटीन संचालित थी। जहां पर यात्रियों को जलपान व भोजन के लिए काफी सुविधा मिलती थी। नया हाईवे चालू होने पर इस चौराहे से होकर सभी वाहनों का आना व जाना बंद हो गया। जिसके चलते कैंटीन भी बंद हो गई। परिवहन विभाग द्वारा अगर यात्रियों को फिर से कैंटीन की सुविधा उपलब्ध करा दी जाए तो यात्रियों को जलपान और भोजन की सुविधा तो मिलेगी साथ ही परिवहन विभाग को भी लाखो का मुनाफा हो सकता है।

ये भी पढ़ें: Mann Ki Awaaz Pratigya 2 के सेट पर हुआ बड़ा हादसा, शूटिंग के दौरान कई लोग घायल

Related Articles

Back to top button