दिल्ली में वायु प्रदूषण में कोई सुधार नहीं, 24 घंटों में 395PM पंहुचा प्रदूषण स्तर

आज राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता का स्तर 412 था, वहीं गुरुग्राम में 384, फरीदाबाद में 376, नोएडा में 383 रहा. दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गणुवत्ता का स्तर रेड श्रेणी में रहा.

नयी दिल्ली: राजधानी दिल्ली में शुक्रवार को भी वायु गुणवत्ता में कोई सुधार नहीं हुआ है और पिछले 24 घंटों में एक बार फिर वायु गुणवत्ता का स्तर 395 दर्ज किया गया है.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार दिल्ली में वायु गुणवत्ता का ‘बहुत खराब’ श्रेणी में है और उसमें कोई सुधार नहीं हुआ है.

आज राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र ग्रेटर नोएडा में वायु गुणवत्ता का स्तर 412 था, वहीं गुरुग्राम में 384, फरीदाबाद में 376, नोएडा में 383 रहा. दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गणुवत्ता का स्तर रेड श्रेणी में रहा.

सरकार द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता एजेंसी- एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) की प्रणाली के अनुसार कल तक कईं स्थानों पर वायु गुणवत्ता के स्तर में सुधार आने के असर है. केन्द्र सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और आसपास के क्षेत्रों में वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिए “वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग” के गठन हेतु एक अध्यादेश जारी किया है. यह आयोग राज्यों के साथ समन्वय बनाकर काम करेगा और इसके पास नियमों को तोड़ने या उल्लंघन करने वालों के लिए दंड़ात्मक शक्तियों तथा जुर्माने की शक्तियां होंगी.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ‘ग्रीन दिल्ली’ मोबाइल एप भी शुरुआत की है, जहां लोग वायु गुणवत्ता के बारे में तत्काल प्रतिक्रिया दे सकते हैं और अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं.

इस बीच मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार शुक्रवार को अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से एक डिग्री अधिक है तथा न्यूनतम तापमान 13.1 डिग्री सेल्सियस रहा जो सामान्य से तीन डिग्री कम है। सुबह 8:30 बजे सापेक्ष आर्द्रता का स्तर 77 प्रतिशत दर्ज किया गया.

यह भी पढ़े: शिवराज ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- कांग्रेस ने किया क्या है, जो इन्हें जनता वोट दें

Related Articles