घर में पैसे की कमी नहीं ख्वाहिशों ने बना दिया एटीएम कटर

IMG-20151229-WA0049

गोरखपुर। किसी का बाप इंजीनियर तो किसी के पिता कंपनी के मालिक। घर में पैसे की कमी नहीं। छोटी-बड़ी हर ख्वाहिश मां-बाप पूरी कर देते थे। लेकिन जब कम उम्र में ख्वाहिशों के पंख बेपनाह फड़फड़ाने लगे तो गुनाह होना लाजमी है।

गोरखपुर में बीती रात यही हुआ। महानगर के हड़हवा फाटक के पास एक निजी बैंक का एटीएम काटते तीन रईसजादों को पुलिस ने रंगे हाथों दबोच लिया। पकड़ में आये आरोपियों से जब पुलिस अफसरों ने बातचीत शुरू की तो होश फाख्ता हो गये। ये कोई आम अपराधी नहीं थे।

फर्राटेदार अग्रेजी बोलने वाले अपराधियों की इस नई पौध ने पुलिस को बताया कि अगर पंद्रह मिनट का वक्त और मिल गया होता तो एटीएम मशीन में एक नोट न बच पाता। आरोपियों ने पीछा कर रही पुलिस टीम पर फायरिंग भी की थी।

रेलवे के जूनियर इंजीनियर का बेटा आनंद, दक्षिण कोरिया में पैसा पीट रहे दम्पत्ति के बेटे पीयूष मणि, दिल्ली में अच्छी कमाई करने वाले दम्पत्ति के बेटे शिवम शुक्ला और रिक्शा कंपनी के मालिक का बेटा यूनुस ज्वाय बीती रात पुलिस के हाथ एक संगीम जुर्म करते हुए पड़ गये। ये सभी एक निजी बैंक का एटीएम काट रहे थे। कहीं से सूचना पाकर अचानक मौके पर पुलिस पहुंच गई।

एक विद्यालय में 12वीं के ये चारो छात्र पुलिस पहुंचने के बाद पेशेवर अपराधियों की तरह फोर्डफीगो गाड़ी से भागने लगे। पुलिस ने पीछा किया और मुठभेड़ के बाद तीन आरोपियों को गिरफ्त में ले लिया।

महंगे शौक ने बनाया अपराधी

एसएसपी लव कुमार ने पकड़े गये तीनों आरोपियों पीयूष मणि, शिवम शुक्ला और यूनुस को मीडिया के सामने पेश करते हुए बताया कि गर्लफ्रैंड्स और महंगे शौक के चक्करों में इन छात्रों ने अपराध किया।

मास्टरमाइंड पीयूष

एसएसपी के अनुसार इस घटना का मास्टरमाइंड पीयूष है। उसने बाकी छात्रों को बताया था कि नवम्बर महीने में वह बशारतपुर का एटीएम मशीन काट चुका है। उसकी बात सुनकर बाकी छात्र उसका सहयोग करने के लिए प्रेरित हुए। दक्षिण कोरिया में रहने वाले पीयूष के पिता ने उसके लिए गोरखपुर में आलीशान बंगला बनवा रखा है। उसकी गर्लफ्रैंड मुंबई में रहती है और उसे 8000 रुपये प्रति माह भेजती भी है।

इंटरनेट से सीखी तकनीक

पूछताछ में पीयूष ने पुलिस को बताया कि इंटरनेट के जरिये उसने एटीएम मशीन काटने की तकनीक सीखी थी। उसने आनलाइन ही यह जानकारी भी इकट्ठा किया कि एटीएम मशीन काटने में किन-किन चीजों का इस्तेमाल होता है। पीयूष इतना एक्सपर्ट है कि वह बगैर नोट कटे एटीएम मशीन काट सकता था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button