उन्नाव रेप कांड : BJP विधायक का शर्मनाक बयान-कोई तीन बच्चों की मां से रेप करता है

बलिया। उन्नाव गैंगरेप मामले के आरोप बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर लगा है। इस कांड की जांच में हो रही देरी को लेकर सभी योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसी बीच बैरिया के बीजेपी विधायक सुरेन्द्र सिंह इस मामले के आरोपी कुलदीप सिंह सेंगारे का पक्ष लेते हुए बेहद शर्मनाक बयान दिया है। उनका कहना है कि कोई भी तीन-चार बच्चों की मां से दुष्कर्म नहीं कर सकता, यह संभव नहीं है। उनका कहना है कि कुलदीप के खिलाफ साजिश की गई है।

कुलदीप सिंह सेंगर

उनका कहना है कि हालाँकि वो घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे। सुरेंद्र सिंह ने कहा कि महिला उत्पीड़न और हरिजन उत्पीड़न के नाम पर लग रहा है कि पूरा समाज उत्पीड़ित हो जाएगा। उन्होंने इस घटना को साजिश बताते हुए कहा कि मैं मनोविज्ञानिक आधार पर ये कह सकता हूँ कोई भी तीन-चार बच्चों की मां से दुष्कर्म नहीं कर सकता है। दो पहले पिता की पिटाई से मौत हुई हो और फिर उसके बेटी के साथ रेप कैसे हो सकता है। उन पर जानबूझ कर 324-325 धारा लगायी है ताकि आसानी बेल न हो सके।

कुलदीप सिंह सेंगर पर FIR दर्ज  

बीजेपी विधायक के इस बयान के बाद फिर से बीजेपी सरकार की किरकिरी हो रही है। वहीँ इस मामले आरोपी विधायक कुलदीप सेंगर के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। विधायक के खिलाफ  आईपीसी की धारा 363 (अपहरण), 366 (अपहरण कर शादी के लिए दवाब डालना), 376 (बलात्‍कार), 506(धमकाना) और पॉस्‍को एक्‍ट के तहत मामला दर्ज किया है।

सीबीआई करेगी जांच 

यह FIR SIT के जांच के बाद दर्ज की गई है। इतना है नहीं योगी सरकार ने इस ममाले की जांच सीबीआई से कराने के फैसला लिया है।

CMS और EMO ऑफिसर सस्पेंड 

इस मामले में तत्काल कार्रवाई करते हुए ज़िला अस्पताल के CMS और EMO यानी इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर को भी सस्पेंड कर दिया गया है। पीड़ित के पिता का सही से इलाज नहीं करने के आरोप में तीन डॉक्टरों के ख़िलाफ़ अनुशासनात्मक कार्रवाई शुरू की जाएगी। सफीपुर के सीओ को भी सस्पेंड करने का फ़ैसला किया गया है।

बुधवार राटा को बड़ा ही नाटकीय घट्नाक्रम चला। आरोपी विधयक दिलीप सिंह सेंगर रात करीब 40 गाड़ियों में अपने समर्थकों को भरकर SSP ऑफिस पहुंचे थे। उनका कहना था कि वो यहां सरेंडर करने आये हैं। लेकिन शक्ति प्रदर्शन के बाद वहां से चले गए।

क्या है मामला 

बता दें कि उन्नाव की रहने वाली एक युवती ने कुलदीप सिंह सेंगर पर गैंगरेप और अपने पिता को मरवाने का आरोप लगाया है। विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर गुंडागर्दी और गैंगरेप का आरोप लगाते हुए रविवार को पीड़िता का पूरा परिवार लखनऊ में मुख्यमंत्री आवास के बाहर धरने पर बैठ गया। इस दौरान पीड़िता ने आत्मदाह करने की कोशिश भी की।

इस बीच पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए पीड़िता के पिता की सोमवार को मौत हो गई। पीड़िता का आरोप है कि पिछले साल 4 जून को कुलदीप सिंह सेंगर और उसके कुछ गुर्गों ने उसके साथ गैंगरेप किया। पीड़िता का यह भी आरोप है कि उसने पुलिस से इसका शिकायत की लेकिन उसकी कहीं सुनवाई नहीं हुई। यहां तक कि दर्ज कराई गई प्राथमिकी में से विधायक कुलदीप सिंह का नाम तक हटा दिया गया।

Related Articles