किम की तानाशाही ने निकाला North Korea का तेल !

नई दिल्ली : हाल ही में जारी यूएन की एक रिपोर्ट के मुताबिक, किम जोंग उन की सनक के बदौलत आज North Korea गंभीर भुखमरी का सामना कर रहा है।

North Korea में लोग आत्महत्या को मजबूर

यूएन की टॉमस ओजिया क्विंटाना के यूएन जनरल असेंबली में दिए एक बयान के मुताबिक, उत्तर कोरिया में खाद्यान्न का भयंकर संकट है , जिसका असर लोगों की आजीविका पर असर पड़ा है। इसकी वजह से अब देश में बच्चों और बुजुर्गों के लिए भुखमरी का खतरा बढ़ गया है। अपने बयान में उन्होंने कहा की  वह राजनीतिक कैदियों के शिविरों में खाद्यान्न की कमी को लेकर भी बेहद चिंतित हैं।

इस कड़ी में आपकी जानकरी के लिए बता दें डेमोक्रेटिक पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया ने महामारी की रोकथाम के बहाने से देश के बॉर्डर बंद कर दिए हैं , जिसका उत्तर कोरिया के लोगों के स्वास्थ्य पर गंभीर असर पड़ा क्यूंकि बुनियादी सुविधओं के लिए देश अपने  पड़ोसियों पर ही निर्भर है।

क्विंटाना के मुताबिक देश में हालात इसने खराब है की लोग बड़े पैमाने पर आत्महत्या कर रहे हैं। इस कड़ी में कई लोग देश छोड़ दूसरे मुल्कों में पलायन को भी मजबूर हो गए है। जनरल असेंबली में पेश की गई अपनी रिपोर्ट में टॉमस ओजिया क्विंटाना ने कहा की आवाजाही की स्वतंत्रता पर पाबंदी और राष्ट्रीय सीमाओं को बंद करने से बाजार की गतिविधि लगभग ठप्प हो गई है। इसका बंद होना काफी खतरनाक हो सकता है क्यूंकि इस वक़्त लोगों के लिए भोजन सहित बुनियादी आवश्यकताओं तक पहुंच उनके सर्वाइवल के लिए बेहद जरूरी है।

यह भी पढ़ें : Homework पर चीन के इस कानून से क्या होगा बच्चों पर असर ?

Related Articles