नहीं संभल रही कुमारस्वामी से सरकार, कांग्रेस छोड़िए अब तो जेडीएस के विधायक भी हुए नाराज़

0

नई दिल्ली। हाल ही में कर्नाटक के चुनाव की उठा पटक खत्म हुई है। कर्नाटक जेडीएस के गठबंधन को सत्ता में आए कुछ दिन भी बीत चुके हैं। जिसके बाद अब खबर आ रही है कि इन सब के बाद 6 जून को मंत्रिमंडल का विस्तार होने वाला है। इसी दौरान कुमारस्वामी अपने भाई को पसंदीदा मंत्रालय दिलाने में कड़ी मेहनत कर रहे हैं। जिसकी वजह से उन्हें कांग्रेस-जेडीएस की नाराज़गी का भी सामना करना पड़ रहा है।

उनके बड़े भाई रेवन्ना के बारे में बता दे कि रेवन्ना, राजनीति में कुमारस्वामी से सीनियर हैं और अपने पिता एचडी देवगौड़ा के पसंदीदा हैं। कहा जा रहा है कि पीएडब्ल्यूडी और पावर दोनों ही रेवन्ना के पसंदीदा मंत्रालय है। साल 2004-06 तक चली कांग्रेस-जेडीएस सरकार में भी उन्होंने इस विभाग को संभाला था उसके बाद 2006-07 तक चली बीजेपी गठबंधन वाली सरकार में भी वह इसी विभाग में शामिल थे।

गौड़ा के मुताबिक इस बार भी उनका मन इन्ही मंत्रालय की कमान को अपने हाथों में लेना था, लेकिन कुछ अड़चनों के चलते ऐसा मुमकिन नहीं हो पा रहा था। अब खबर है कि अपनी इस बात के लिए गौड़ा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को मना लिया है। कांग्रेस नेता तैयार नहीं थे, यहां तक कि जेडीएस के ‘क्राइसिस मैनेजर’ डीके शिवकुमार भी इसके खिलाफ थे। सीएम के नज़दीकी सूत्रों के मुताबिक, खुद कुमारस्वामी भी पिता के इस फैसले से नाखुश थे साथ ही सिद्धारमैया सरकार में पावर पोर्टफोलियो संभाल चुके शिवकुमार भी कांग्रेस-जेडीएस के इस फैसले से नाराज़ हैं।

loading...
शेयर करें