भीख मांगने से कुछ नहीं मिलता, हक चाहिए तो संघर्ष के लिए रहे तैयार: चंद्रशेखर राणा

आप को बता दें कि 69,000 शिक्षक भर्ती में पिछड़े वर्ग के आरक्षण के हिसाब से पद न भरे जाने को लेकर अभ्यर्थी करीब 22 दिनों से राजधानी लखनऊ में धरना दे रहे हैं।

लखनऊ: आजाद समाज पार्टी के नेता चंद्रशेखर उर्फ रावण (Chandrashekhar alias Ravana) बुधवार को लखनऊ के इको गार्डन धरना स्थल पर पहुंचे। जहां 69 हजार शिक्षक भर्ती मामले में आरक्षण के सापेक्ष अभ्यर्थियों के पद न भरे जाने से नाराज अभ्यर्थी धरना दे रहे हैं। उन्होंने अभ्यर्थियों से मुलाकात की, इस दौरान चंद्रशेखर ने धरना दे रहे अभ्यर्थियों से कहा कि अपना हक मांगने के लिए सरकार से लड़ना होगा, भीख मांगने से कुछ भी नहीं मिलता है। अगर हक चाहिए तो संघर्ष के लिए तैयार रहना होगा।

22 दिनों से अभ्यर्थी कर रहे प्रदर्शन 

आप को बता दें कि 69,000 शिक्षक भर्ती में पिछड़े वर्ग के आरक्षण के हिसाब से पद न भरे जाने को लेकर अभ्यर्थी करीब 22 दिनों से राजधानी लखनऊ में धरना दे रहे हैं। इस दौरान अभ्यर्थियों पर कईयों बार लाठीचार्ज भी किया गया। बता दें कि एक दिन पहले ही एक अभ्यर्थी ने गोमती नदी में कूदकर अपनी जान देने की भी कोशिश की थी। उसी अभ्यर्थी से मिलने चंद्रशेखर आलमबाग स्थित ईको गार्डन धरना स्थल पहुंचे थे। चंद्रशेखर ने अभ्यर्थियों का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि वो खुद इस धरने का नेतृत्व करेंगे और जब तक आपका हक नहीं दिला देते लगातार धरना प्रदर्शन करते रहेंगे।

चंद्रशेखर ने दी पुलिस वालों को चेतावनी 

चंद्रशेखर ने अपने संबोधन में कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार अभ्यर्थियों को रोजगार तो नहीं दे पा रही है, बल्कि अभ्यर्थियों के ऊपर लाठीचार्ज करा रही है। इस लाठीचार्ज में कई अभ्यर्थियों के हाथ फैक्चर हुए हैं। इसके साथ ही साथ चंद्रशेखर रावण ने उन पुलिसकर्मियों को भी चेतावनी दी कि यदि हमारी सरकार बनती है तो ऐसे पुलिसकर्मियों से इस तरह बर्बरता पूर्वक कार्रवाई करने का हिसाब लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: क्रोमा ने लॉन्च किया Apple You & Chroma फेस्ट का दूसरा एडिशन

Related Articles