WhatsApp मिला नोटिस, दायर हो सकता है सिविल और हत्‍या का केस

0

नई दिल्‍ली। मैसेजिंग ऐप व्हाट्सएप को दिल्ली के वकील ने एक नोटिस भेजा है, नोटिस में वकील ने व्हाट्सएप से 15 दिनों के भीतर ‘मिडल फिंगर’ इमोजी को खत्‍म करने को कहा है। साथ ही अपनी नोटिस में कहा है कि अगर वह इस इमोजी को नहीं हटाता है तो उस पर सिविल या क्रिमिनल केस भी दायर कर देंगे।

सूत्रों के मुताबिक मिली जानकारी के अनुसार जिस वकील ने कंपनी को नोटिस भेजी है। वह अभी दिल्ली कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे है। जिनका नाम गुरमीत सिंह है। उनका कहना है कि भारत में मिडिल फिंगर इशारे को गैर कानूनी के साथ-साथ भद्दा इशारा भी माना जाता है। यह देश में एक बहुत बुरे इशारे के रूप में प्रयोग किया जाता है।

यह भी पढ़े- भारत में म्यूजिक के शौखीनों को नए साल पर सैमसंग का यह बड़ा तोहफा, लांच की यह नई डिवाइस

इतना ही नहीं इमोजी को हटाने के लिए गुरमीत ने बाकायदा कानून का भी हवाला भी दिया। अपनी दी नोटिस में कहा है कि ‘भारतीय दंड संहिता धारा 354 और 509 के तहत महिलाओं को अशिष्ट और भद्दे इशारे दिखाना अपराध है। किसी भी व्यक्ति की ओर से इस तरह के इशारे करना पूरी तरह से अवैध व गैर कानूनी है।

loading...
शेयर करें