इस जगह 24 घंटे सरेआम होता है जिस्मफरोशी का सौदा, मजबूर हैं 14 हज़ार लड़कियां…

0

नई दिल्ली। कुछ चीज़ो को देखकर अक्सर हमारे मन में सवाल उठते हैं ठीक उन्ही सवालों में से एक है कि क्या देह व्यापार हमारे देश में कानून तौर पर लीगल है? नहीं जवाब तो यही सही है लेकिन कई रेड लाईट एरिया को देखकर हम फिर सोच में पड़ जाते हैं। आखिर फिर ये सब क्यों और कैसे हो जाता है। शायद जवाब में आपको यहीं मिले कि कुछ पैसों के लिए बस इस कारोबार को बढ़ावा मिलता आ रहा है। आए दिन लड़कियां इस नर्क में लाई जाती हैं और उन्हें अपनी जिन्दगी यहीं गुजारनी पड़ती है।

देह व्यापार का कारोबार बहुत तेजी  से पैर पसार रहा है। बात करें इस कारोबार की तो सोनागाछी गांव में यह बहुत ज्यादा फैल रहा है। यहां रहने वाली लड़कियां उम्रभर दर भरी जिन्दगी से गुजरती हैं। यहां जन्म लेने के बाद ही लड़कियां इस अभिशाप को भुगतने के लिए तैयार हो जाती हैं। बता दे शायद ही आज कोई ऐसा शहर हो जो इस धंधे से अछूता रह गया हो। आइए जानते हैं इस जगह के बारे में-

एशिया का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया-
कोलकाता के सोनागाछी एशिया का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया बताया जाता है, जो जगह पहले कभी नाचने गाने के लिए मशहूर हुआ करती है आज जिस्म बेंचने के लिए मशहूर है। कहा जाता है वक्त का पहिया घूमता सिर्फ दो ही तरफ है या तो अच्छा या तो बुरा। यहां का वक्त बुरा है, बताया जाता है यहां एक गैंग देह-व्यापार का कारोबार चला रही है जिसके अंतर्गत 14 हज़ार लड़कियां शामिल हैं। इन हज़ारों लड़कियो की जिन्दगी नर्क से बदत्तर है। छोटी सी उम्र में यहां लड़कियों को बेच दिया जाता है जिसके बाद वह यहां मर्दों के साथ सोने के लिए मजबूर होती हैं। जानकारी के मुताबिक यहां इन्हें एक मर्द के साथ सोने का 124 रुपया मिलता है।

बन चुकी है फिल्म-
यहां की कहानी की हकीकत दिखाती हुई एक फिल्म भी बन चुकी है। जिसमें ऑस्कर से सम्मानित किया गया था। इस फिल्म का नाम born into brothels रखा गया था। जो यहां पर चल हरकतों से रुबरु कराती है।

loading...
शेयर करें