हो जायें सावधान, नहीं मिलेगा गुम हुआ फोन, IMEI नंबर नहीं हो रहे ट्रेस

0

लोगों से खो जाने वाली मोबाइल को पुलिस अभी तक कुछ समय में ही खोज निकालने में सफल हो जाती थी। लेकिन अब यह काम चुनौतियों से भरा होने लगा है। अभी तक फोन असानी से ट्रेस होने वाले अब उनका सुराग तक नहीं मिल पा रहे है।  आपकों एक खबर के मुताबिक बता दें कि बदमाशों के हाथ अब ऐसा डिवाइस लग चुका हैं जिनकी मदद से वो IMEI नंबर को बदलने में सफल हो रहे हैं। चिंता की बात यह है कि ग्रे मार्केट में ये यंत्र आसानी से मिल रहे है। जिनसे मोबाइल चोरी की घटना में और अधिक इजाफा हुआ है।

IMEI , इंटरनैशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी 15 संख्योंै का एक नंबर होता है। जिसकों इस तरह से बनाया जाता है कि प्रत्येक डिवाइस के लिए बिल्कुल अलग होता है। अभी तक इसके साथ छेड़छाड़ बिल्कुल भी संभव नहीं है।
वहीं कुछ इंजीनियर नाम न जाहिर करने की शर्त पर बताया कि इनके डिवाइस को बदला जा सकता है। ऐसा लगता है, कि सस्ते MTK प्रोसेसर पर रन करने वाले फोन्स का IMEI नंबर बदलना ज्यादा आसान है।

क्वालकॉम स्नैपड्रैगन वाले हैंडसेट्स को क्रैक करना मुश्किल होता है। हालांकि, उनके साथ भी छेड़छाड़ की जा सकती है। वहीं, ऐपल के हैंडसेट्स का IMEI बदलना असंभव है क्योंकि ये फ्लैशर आईफोन्स पर काम नहीं करते। लेकिन चोरों को इससे कोई खास फर्क नहीं पड़ता। पुलिस का मानना है की अधिकतर ऐपल फोन डिसमैंटल कर उनके पार्ट्स अलग-अलग कर के बेचे जाते हैं।

जिसका प्रभाव देश की राजधानी दिल्ली में सबसे अधिक दिखाई देता है। पुलिस ने राजधानी से हाल ही में कुछ गिरोहों को महंगे फोन्स के IMEI बदलते पकड़ा है। इनमें सबसे बड़ा गिरोह फरवरी में पकड़ा गया था, जिसमें 8 लोग गिरफ्तार किए गए थे और 1.3 करोड़ रु कीमत के 735 फोन रिकवर किए गए थे। जिनमें अधिकतर के IMEI बदले ला चुके थे। साथ ही खबर यह भी है़ की इनमें से कुछ के गिरोह देश के अन्य राज्योंं में फैले हुए है।

loading...
शेयर करें