डीडीसीए पर कीर्ति की सुनवाई अब शाह की अदालत में

0

asdनई दिल्ली। अरविंद केजरीवाल और अरुण जेटली के बीच डीडीसीए घोटाले को लेकर गहमागहमी तेज होती जा रही है। वहीं अब इसमें भाजपा के ही दरभंगा सांसद कीर्ति आजाद भी कूद पड़े हैं। उन्‍होंने भी भाजपा के मिस्टर क्लीन कहे जाने वाले नेता अरुण जेटली पर आरोप लगाए हैं। इसको लेकर भाजपा महा‍सचिव रामलाल ने कीर्ति आजाद को इस विवाद पर न बोलने की नसीहत दी, तो उन्‍होंने इससे इनकार कर दिया। वे अब भी डीडीसीए घोटाले पर रविवार को एक प्रेस कांफ्रेंस करने की अपनी जिद पर अडे़ हुए हैं।

मामले की गंभीरता को देखते हुए भाजपा अध्‍यक्ष अमित शाह ने अब खुद यह मोर्चा अपने हाथों में ले लिया है। माना जा रहा है कि आज कीर्ति आजाद को अमित शाह तलब करने वाले हैं। चंद महीने पहले भी जब कीर्ति आजाद ने दिल्ली के एक पुलिस थाने में जेटली के खिलाफ मामला दर्ज कराया था तो शाह ने उन्हें तलब कर मामला वापस लेने का दबाव बनाया था। उन्हें नसीहत दी गई थी कि यदि वह मामला वापस नहीं लेते हैं तो उन्हें दल से बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है।

ये भी पढें-  जानिए अरुण जेटली पर क्या-क्‍या आरोप लगाए आप ने

मगर इस बार लग तो ऐसा रहा है कि आजाद के मंसूबे आर-पार के मूड में हैं। संगठन महामंत्री से मिलने के बाद भी आजाद ने कहा है कि डीडीसीए मामले में अभी 15 प्रतिशत खुलासा हुआ है। शेष 85 प्रतिशत मामले का खुलासा वह खुद करेंगे। अपने इरादे जताते हुए उन्होंने कहा है कि पार्टी यह नहीं कहती है कि भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई मत लड़ो।

वैसे भाजपा में मिस्टर क्लीन की पहचान रखने वाले जेटली के बारे में कहा जाता है कि वह पार्टी से भी अपने खर्च का पैसा नहीं लेते हैं। बल्कि पार्टी के कार्यक्रमों में वे अपने खर्च से ही यात्रा और ठहरने का इंतजाम करते हैं।

इस पूरे विवाद में डीडीसीए भी अपना पक्ष सामने रख चुकी है। डीडीसीए का दावा है कि बैलेंस शीट में हर हिसाब किताब दर्ज है और कोई भी इसकी जानकारी ले सकता है। वहीं आम आदमी पार्टी सीबीआई की जांच में घिरे दिल्‍ली मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार पर कोई सफाई नहीं दे रही है। वे लगातार वित्‍त मंत्री पर निशाना साध रहे हैं, इससे यही लगता है कि आम आदमी पार्टी जेटली पर निशाना साधकर असल मुद्दे से ध्‍यान भटकाना चाहती है।

loading...
शेयर करें