काला जादू (Black Magic) भगाने वाला यंत्र दिखाया तो तुरंत होगी कानूनी कार्रवाई

बॉम्बे हाईकोर्ट और औरंगाबाद पीठ ने अंधविश्वास (Black Magic) और उससे जुड़ी सामग्री को बढ़ावा देने वाले विज्ञापनों के प्रसारण पर रोक लगा दी है। कोर्ट का मानना है कि इस तरह के विज्ञापनों से जनता भ्रमित होती है और अंधविश्वास को भी बढ़ावा मिलता है।

नई दिल्ली: रोज सुबह या देर रात जब आप टीवी ऑन करते होंगे तो आपको कई तरह के ऐड नजर आते होंगे। बहुत सारे ऐड ऐसे भी होते हैं जिनमें कहा जाता है कि जीवन से दुख दूर करने के लिए तुरंत ऑर्डर करें ये हनुमान यंत्र, रक्षा कवच, दुर्गा कवच , काला जादू (Black Magic) आदि। इन ऐड्स में ये दावा किया जाता है कि ये यंत्र बस पलभर में ही आपके सारे दुखों को दूर कर देंगे और आपका जीवन खुशियों से भर जाएगा।

आपको इस बात पर हंसी आ रही होगी, लेकिन सच तो ये है कि आप और हम जैसे बहुत से लोग हैं जो इन यंत्र को खरीदते भी है और अपने घरों में लगाते भी है। पर अब ऐसा नहीं हो पाएगा, अब आप इस धांधली में नहीं फंस सकेंगे। क्योंकि बॉम्बे हाईकोर्ट और औरंगाबाद पीठ ने इन अंधविश्वास और उससे जुड़ी सामग्री को बढ़ावा देने वाले विज्ञापनों के प्रसारण पर रोक लगा दी है। कोर्ट का मानना है कि इस तरह के विज्ञापनों से जनता भ्रमित होती है और अंधविश्वास को भी बढ़ावा मिलता है।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि काला जादू अधिनियम की धारा तीन ना केवल जादू, बुरी प्रथाओं को प्रतिबंधित करती है बल्कि इससे जुड़े किसी भी तरह के प्रचार-प्रसार को रोकने का काम भी करती है। जस्टिस नलवड़े और एमजी सेवलिकर की डिवीजन बेंच ने कहा, इस तरह के ऐड को टेलीकास्ट करना, महाराष्ट्र प्रिवेंशन एंड इरैडिक्शन ऑफ ह्यूमन सैक्रिफाइस और ब्लैक मैजिक एक्ट 2013 के प्रावधानों के तहत दंडनीय अपराध है।

बता दें कि यह केस टीचर राजेंद्र अंभोरे ने किया है। राजेंद्र ने कई चैनलों पर प्रसारित होने वाले विज्ञापनों को लेकर याचिका डाली थी। राजेंद्र ने आरोप लगाया है कि इन विज्ञापनों को दिखाकर लोगों को मूर्ख बनाकर लालच दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: Bigg Boss 14: रूबिना और अर्शी के बीच तू तू मैं मैं, कहा ‘गल कटी मुर्गी (Miss Headless chicken)’

यह भी पढ़ें: मालिक के लिए नौकर ने दिखाई ऐसी वफादारी, चली गई जान

Related Articles

Back to top button