जेट इंजन के साथ आई टाटा और जेई, मिलकर करेगी घटकों का निर्माण

0

मुंबई: औद्योगिक समूह जीई और टाटा समूह ने वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला के लिए भारत में सीएफएम इंटरनेशनल लीप इंजन का निर्माण करने के लिए एक समझौता किया है। कंपनी द्वारा जारी बयान में गुरुवार को यह जानकारी दी गई। बयान के मुताबिक, दोनों कंपनियों ने भारतीय बाजार के लिए भी सैन्य इंजन और विमान प्रणाली तैयार करने का इरादा जाहिर किया है।

टाटा संस के अध्यक्ष एन. चंद्रशेखरन ने कहा कि हम जीई के साथ काम करने के लिए तत्पर हैं ताकि भारत की रक्षा उत्पादन क्षमताओं को और अधिक मजबूती और विशेषज्ञता प्रदान कर सकें। उन्होंने कहा कि टाटा समूह की जीई के साथ भागीदारी से रक्षा क्षेत्र के लिए उत्पादन में तेजी आएगी और हम सेनाओं की मदद करनवाले नवाचारों पर जोर देंगे।

‘लीप’ इंजन दुनिया का प्रमुख जेट इंजन है, जो अपनी तकनीकी श्रेष्ठता और कुशल इंजन खपत के लिए जानी जाती है।

जीई के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी जॉन एल. फ्लान्नेरी ने कहा कि टाटा समूह भारतीय रक्षा और हवाई क्षेत्र की अग्रणी कंपनी है और हम लीप इंजनों की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए साथ मिलकर काम करने को उत्सुक हैं। अभिनव प्रौद्योगिकियों के निर्माण में हमारी साझेदारी भारत सरकार की ‘मेक इन इंडिया’ विजन का समर्थन करेगा।

loading...
शेयर करें