अब world-economy में आ रहा है सुधार : आरबीआइ गवर्नर

नई दिल्ली : आज 48वें एआईएमए नेशनल मैनेजमेंट कन्वेंशन  में बोलते हुए आरबीआइ गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि इस बात के संकेत मिल रहें हैं कि world-economy करोना महामारी के झटके से उबर रही है। उन्होंने आगे कहा कि करोना महामारी हमारे युग की सबसे बुरी घटनाओं में से एक है। इसने दुनिया भर में भारी तबाही फैलाई।

world-economy के बेहतर होने से सुधरेगी देश की इकोनामी

अपने बयान में उन्होंने आगे कहा कि इस महामारी में दुनिया की इकोनॉमी पर बहुत गहरे घाव छोड़े हैं। जिससे समाज का गरीब तबका सबसे ज्यादा प्रभावित हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेन्टिव स्कीम देश में मैन्यूफैक्चरिंग को बढ़ावा देने के लिए काफी अहमियत रखती है। उन्होंने आगे कहा कि किसी देश की इकोनॉमी  में बेहतरी के लिए मजबूत और बेहतर फाइनेंशियल सिस्टम की अहम भूमिका होती है। भारत के फाइनेंशियल सिस्टम ने देश की बदलती जरूरतों को पूरा करने के लिए अपने में व्यापक बदलाव किए हैं।  उन्होंने आगे कहा कि अब तक बैंकों ने देश में क्रेडिट के मूल आधार की भूमिका निभाई है लेकिन अब एनबीएफसी भी देश के फंडिंग चैनल में अहम भूमिका निभा रहे हैं।

NBFCs और mutual funds जैसे नान-बैंकिंग फाइनेंशियल इंटरमीडियरीज के असेट में लगातार बढ़त देखने को मिल रही है। इसके साथ ही कॉर्पोरेट बॉन्डों जैसे मार्केट इंस्ट्रूमेंट से होने वाली फंडिंग में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है। ये देश के फाइनेंशियल सिस्टम में आ  रही परिपक्वता का संकेत है।

यह भी पढ़ें ”भगवान के रूप” के मंदिर जाने पर ”इंसानों” ने लगाया 25000 का जुर्माना

Related Articles