सिर्फ 2 सीटों पर जीतने वाली बीजेपी ने मेघालय में बनाई NDA की सरकार, मुंह देखती रह गई कांग्रेस  

0

अगरतला। हाल ही में मेघायल में विधानसभा चुनाव के नतीजे सामने आए थे। यहां कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनकर सामने आई थी। 59 सीटों पर हुए चुनावों में 21 पर कांग्रेस को जीत मिली थी। लेकिन 2 सीटें जीतने वाली बीजेपी ने अपनी सहयोगियों का साथ लेकर सरकार बना ली। आज नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) के अध्यक्ष कोनराड संगमा ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ । उनके साथ अन्य मंत्रियों ने भी शपथ ली।

राजनाथ सिंह और अमित शाह रहे मौजूद

संगमा के शपथ ग्रहण समारोह में शिरकत करने पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उन्हें बधाई दी और कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। कोनराड संगमा (40) पूर्व लोकसभा अध्यक्ष पी.ए. संगमा के सबसे छोटे बेटे हैं। 2016 में पी.ए. संगमा के निधन के बाद कोनराड तूरा संसदीय क्षेत्र से लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए थे। बता दें कि एनपीपी की अगुवाई में बन रही सरकार में भाजपा भी हिस्सेदार है। वहीं, मुख्यमंत्री के रूप में मंगलवार सुबह शपथग्रहण के बाद कॉनरैड संगमा ने कबूल कर लिया कि गठबंधन सरकार को चलाना आसान काम नहीं होगा।

संगमा ने इससे पहले क्या कहा था

इससे पहले सोमवार को संगमा ने कहा, राज्यपाल ने मुझे सरकार बनाने के लिए आमंत्रित किया है क्योंकि मेरे पास संख्या बल है। संगमा ने कहा था, हमने राज्यपाल से मुलाकात की और 34 विधायकों के समर्थन का पत्र पेश किया जिसमें 19 विधायक एनपीपी के, 6 यूनाईटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट, 4 पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी, 2 हिल स्टेट डेमोक्रेटिक पार्टी (एचएसपीडीपी), 2 भाजपा के और 1 निर्दलीय विधायक है।

कोनराड संगमा का इतिहास

कोनराड संगमा ने राजनिती में कदम 2008 में नेशनल कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर सेलसेला से रखा। संगमा 2008 के विधानसभा चुनाव में पहली बार विधायक चुने गए।  संगमा ने यूनोइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी (यूडीपी) की सरकार में 2008 में सबसे युवा वित्त मंत्री के तौर पर कई अहम मंत्रालयों को संभाला। यही नहीं वित्त मंत्री चुने जाने के 10 दिन के भीतर ही उन्होंने मेघालय सरकार का बजट भी पेश किया था।इसके अलावा वे ऊर्जा और पर्यटन मंत्रालय का कार्यभार भी संभाल चुके हैं।

मेघालय विधानसभा चुनाव में 60 में से 21 कांग्रेस के खाते में है

बता दें मेघालय विधानसभा चुनाव में 60 में से 21 कांग्रेस के खाते में है। वहीं एनपीपी के खाते में 19 और बीजेपी के खाते में महज 2 सीटें ही आई हैं। जबकि यूनाईटेड डेमोक्रेटिक पार्टी को 6 और पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी को 2 सीटें मिली हैं। पिछले दस वर्षों से राज्य की सत्ता में रही कांग्रेस को 27 फरवरी को 59 सीटों पर हुए मतदान में 21 सीटें हासिल हुईं।

loading...
शेयर करें