जब ओबामा फिर नहीं रोक पाए अपने आंसू

03_Barack-Obama_reuters

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा एक कार्यक्रम में बहुत भावुक हो गए और उनकी आखों से आंसू निकल पड़े। यह पहला मामला नहीं है जब ओबामा भरी सभा में रोए हैं।

यह भी पढ़ें: आखिर क्‍यों रो पड़े बराक ओबामा

बंदूकों पर लगे लगाम
अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा की आंखों से उस समय आंसू आ गए जब उन्होंने देश में बंदूकों पर सख्त नियंत्रण रखने के लिए अपनी योजना पेश की।

20 छात्रों की मौत पर रोए
बराक ओबामा कनेक्टिक्ट के न्यूटाउन में दिसंबर 2012 की एक हिंसा में जान गंवाने वाले 20 स्कूली छात्रों को याद करते हुए कुछ ज्यादा ही भावुक हो गए और अपने आंसुओं को रोक नहीं पाए।

अपने को संभाल नहीं पाता
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि जब भी मैं उन बच्चों के बारे में सोचता हूं तो अपने आपे से बाहर हो जाता हूं। इसलिए सभी को ऐसी कानून की मांग करनी करनी चाहिए जो कि गन लॉबी के झूठ का पर्दाफाश करने की क्षमता रखती हो।

भावुक अंदाज में बोले अमेरिकी राष्ट्रपति, ‘नहीं चलेगा बहाना’
बराक ओबामा ने कहा कि बंदूक रखने वालों की पृष्ठभूमि की जांच की जायेगी और उनके मानसिक स्वास्थ्य और अपराध के इतिहास को इससे जोड़ने का नियम बनाए जाएंगे। उन बच्चों को याद करते समय भावुक अंदाज में उन्होंने कहा कि अब कोई भी कार्रवाई नहीं करने का बहाना नहीं बना पाएगा। इसके अलावा चोरी हुए बंदूकों की जानकारी देने के कानून को प्रभावी ढंग से लागू किया जाएगा।

न पैदा करें कामकाज में व्यवधान
अमेरिका के संविधान का दूसरा संविधान संशोधन वहां के नागरिकों को अपना बचाव करने के लिए हथियार रखने का अधिकार देता है। राष्ट्रपति ने अमेरिकी गन लॉबियों को भी चेतावनी देते हुए कहा कि उन्हें सरकार के कामकाज में व्यवधान पैदा करने की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

‘अमेरिका को बंधक नहीं बना सकते’
ओबामा ने कहा कि बंदूकों के लिए लॉबी करने वालों ने भले कांग्रेस को बंधक बना लिया हैं, लेकिन अब वह अमेरिका को बंधक नहीं बना सकते। ओबामा ने बंदूक डीलरों के लिए जो नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं उसके अनुसार अब डीलरों को लाइसेंस लेना होगा और बंदूक खरीदने वाले की पृष्ठभूमि का पूरा ब्यौरा रखना होगा। डीलरों को अब इस कानून का पालन अपने शोरूम और खुले बाजार दोनों जगहों पर करना होगा।

पहली बार नहीं रोए ओबामा
-साल 2012 में डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन सेंटर में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन कार्यकर्ताओं को धन्यवाद देते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा भावुक हो गए।
-इसी साल कनेक्टीकट में हुई गोलीबारी की घटना में मारे गए बच्चों की याद में आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए दुनिया का सबसे ताकतवर नेता भावुक हो गया था।
वर्ष 2008 में चुनाव प्रचार कार्यक्रम के दौरान अपनी दादी का जिक्र कर ओबामा भावुक हो गए थे, जिनका हाल ही में निधन हुआ था।
इसके अलावा 2015 में अमेरिका के उपराष्ट्रपति जो बिडेन के बेटे के अंतिम संस्कार कार्यक्रम में बराक ओबामा की आंखें भीग गई थीं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button