ओडिशा : खतरे के निशान से ऊपर बह रही बैतरणी नदी, अलर्ट जारी

0

भुवनेश्वर: विशेष राहत आयुक्त(एसआरसी) बिष्णुपद सेठी ने शनिवार को बैतरणी नदी के खतरे के निशान से उपर बहने पर चार जिला कलेक्टरों को अलर्ट रहने के लिए कहा है। एसआरसी ने क्योंझर, जाजपुर, भद्रक और केंद्रापाड़ा जिलों के कलेक्टरों को जमीनी कार्यकर्ताओं और प्रशासनिक अधिकारियों को अलर्ट करने को कहा है, क्योंकि ऊपरी तराई क्षेत्रों में भारी बारिश से बैतरणी नदी में बाढ़ की स्थिति पैदा हो गई है।

सूत्रों के अनुसार, बैतरणी नदी भद्रक के अखुआपाड़ा में खतरे के निशान 17.83 मीटर से ऊपर 18.47 मीटर पर बह रही है।

एसआरसी ने कहा, “ऊपरी तराई क्षेत्र में भारी बारिश से, शनिवार रात तक आनंदपुर में जलस्तर 38.75 मीटर तक बढ़ सकता है और अखुआपाड़ा में रविवार सुबह तक जलस्तर 19.2 मीटर तक पहुंच सकता है।”

सेठी ने कहा कि किसी भी आपात स्थिति से बचने के लिए ओडिशा त्वरित कार्य बल(ओडीआरएएफ), दमकल सेवा और राष्ट्रीय आपदा मोचन बल(एनडीआरएफ) को तैयार रखा गया है।

उन्होंने कहा कि जाजपुर और भद्रक जिलों में छह पॉवर नौकाओं को तैयार रखा गया है। सरकार ने क्योंझर, जाजपुर, भद्रक और केंद्रापाड़ा जिलों में शनिवार और रविवार की छुट्टियां रद्द कर दी हैं।

सूत्रों ने बताया कि भद्रक जिले मे कई गांव बाढ़ के पानी में डूब गए हैं, जबकि कई ब्लॉक की मुख्य सड़कों पर बाढ़ के पानी की वजह से सड़क संपर्क टूट गया है। इसे देखते हुए, एसआरसी ने कलेक्टरों को किसी भी आपात स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है।

loading...
शेयर करें