ट्रंप हुए नाकामयाब, चुनाव में वोट चोरी या गड़बड़ी के आरोप को अधिकारियों ने किया खारिज

अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में हार के बाद डोनाल्ड ट्रंप बाजी जितने के लिए कई चाल चल रहे है, लेकिन नाकामयाब होते दिख रहे है।

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में हार के बाद डोनाल्ड ट्रंप बाजी जितने के लिए कई चाल चल रहे है, लेकिन नाकामयाब होते दिख रहे है। डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिकी वोटिंग मशीन सिस्टम से गड़बड़ी या वोट चोरी अथवा मतों में बदलाव होने का आरोप लगाया था। इसमें उन्हें मिले 27 लाख मत डिलीट करने की आधारहीन रिपोर्ट पेश की, इसके एक घंटे बाद ही संघीय और चुनाव अधिकारियों के समूह ने राष्ट्रपति के दावे को खारिज करते हुए कहा- संपन्न अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों में किसी भी तरह की गड़बड़ी या वोट चोरी, मतों में बदलाव के कोई सबूत नहीं मिले हैं।

चुनाव परिणाम पर हड़बड़ी के लगे आरोप के बाद चुनाव अधिकारियों ने अपने एक बयान में कहा कि तीन नवंबर को हुए चुनाव अमेरिकी इतिहास में अब तक के सबसे सुरक्षित और निष्पक्ष चुनाव रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस बात के कोई साक्ष्य नहीं हैं कि मतदान प्रणाली से कोई समझौता किया गया या उसमें भ्रष्टाचार हुआ है।

ट्रंप के सभी दावों को अधिकारियों ने खारिज कर दिया, ट्रंप ने आरोप लगाया था कि जो बाइडन ने चुनाव में धांधली कराई है और उनके समर्थन से वोटों की चोरी करवाई है। चुनाव के बारे में यह बयान इंफ्रास्ट्रक्चर गवर्नमेंट कोऑर्डिनेटिंग काउंसिल ऑफ स्टेट इलेक्शन डायरेक्टर्स और नेशनल एसोसिएशन ऑफ सेक्रेटरीस ऑफ स्टेट ने जारी किया। इस बयान पर अमेरिकी चुनाव आयोग के चेयरमैन ने भी दस्तखत किए।

ये भी पढ़े : बिहार विधान परिषद की सात सीटों के नतीजे घोषित, नहीं हुआ कोई उलटफेर

देश चुनाव प्रक्रिया में धांधली के सभी दावे निराधार

अमेरिका के चुनाव अधिकारियों ने कहा कि देश चुनाव प्रक्रिया में धांधली के सभी दावे निराधार हैं और देश में सबसे सुरक्षित चुनाव हुए हैं। इसके साथ ही उन्होंने अपने बयान में लिखा कि चुनावी प्रक्रिया की सुरक्षा और अखंडता पर उन्हें पूरा भरोसा है और सभी को होना चाहिए।

ये भी पढ़े : जगमग हुई अयोध्या नगरी, 6,06,569 दीए हुए प्रज्जवलित, बनाया रिकॉर्ड

बाइडन के पास 290 वोट हो गए

अमेरिका के नए राष्ट्रपति जो बाइडन ने एरिजोना राज्य में जीत हासिल करके राज्य के 11 इलेक्टोरल वोट जीते हैं। उन्होंने अपने रिपब्लिकन प्रतिद्वंद्वी राष्ट्रपति ट्रंप पर मतों का बड़ा अंतर जुटा लिया है। एरिजोना से 11 इलेक्टोरल वोट हासिल करने के बाद बाइडन के पास 290 वोट हो गए हैं जबकि ट्रंप के पास सिर्फ 217 वोट ही हैं। बाइडन ने राज्य को 11,000 मतों से जीता। बता दें कि अमेरिका में राष्ट्रपति बनने के लिए कम से कम 270 इलेक्टोरल वोटों का जादुई आंकड़ा छूना होता है जिससे बाइडन काफी आगे हैं।

 

Related Articles

Back to top button