ओआईसी ने दिया पाकिस्तान को झटका, मुस्लिम देश की बैठकों में शामिल नहीं कश्मीर मुद्दा

नियामें में बैठक के एजेंडे राजनीतिक, मानवतावादी, आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक और विज्ञान और प्रौद्योगिकी, मीडिया और ओआईसी-2025 की कार्य योजना के कार्यान्वयन में प्रगति से संबंधित अन्य मुद्दे शामिल है।

इस्लामाबाद: इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) नाइजर की राजधानी नियामें में विदेश मंत्रियों की दो दिवसीय बैठक के एजेंडे में कश्मीर का मुद्दा शामिल नहीं करेगा जबकि पाकिस्तान सरकार इस मंच पर मुद्दे को उठाने की उम्मीद कर रही है।

समाचार पत्र के अनुसार ओआईसी द्वारा जारी बयान मेंं कहा गया है कि रियाद में घोषित एजेंडे में कश्मीर के मुद्दे पर कोई जिक्र नहीं किया गया था।

ओआईसी के महासचिव डॉ. यूसफ अल -ओथियामीन द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि बैठक में फिलिस्तीनी, हिंसा के खिलाफ जंग, अतिवाद और आतंकवाद, इस्लामोफोबिया, धर्म की निंदा, गैर-सदस्य राज्यों में मुस्लिम अल्पसंख्यकों और समुदायों की स्थिति, अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय में रोहिंग्या मामले के लिए अनुदान संचय, सभ्यताओं, संस्कृतियों और धर्मों तथा अन्य उभरते मामलों पर चर्चा की जाएगी। लेकिन कश्मीर मुद्दे पर चर्चा उनकी सूची में शामिल नहीं है और न ही इसका उल्लेख किया गया है।

नियामें में बैठक के एजेंडे राजनीतिक, मानवतावादी, आर्थिक, सामाजिक और सांस्कृतिक और विज्ञान और प्रौद्योगिकी, मीडिया और ओआईसी-2025 की कार्य योजना के कार्यान्वयन में प्रगति से संबंधित अन्य मुद्दे शामिल है। पाकिस्तान ओआईसी विदेश मंत्रियों की विशेष बैठक में कश्मीर मुद्दा उठाने की मांग कर रहा है।

यह भी पढ़े: एनएच 24 पर बाइक सवार को बचाने में बस और कार की भिड़ंत, दोनों वाहन खाई में पलटे

Related Articles

Back to top button