उमर अब्दुल्ला का आरोप, मतदान का बहिष्कार करवाने पर तुला है प्रशासन

चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने के लिए जनता पर दबाव डालने का आरोप लगाया और कहा कि एक समय ऐसा भी रहा जब सरकार मतदान को लेकर लोगों को प्रोत्साहित करती थी।

श्रीनगर: नेशनल कांफ्रेंस उपाध्यक्ष एवं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने प्रदेश प्रशासन पर जिला विकास परिषद (डीडीसी) चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने के लिए जनता पर दबाव डालने का आरोप लगाया और कहा कि एक समय ऐसा भी रहा जब सरकार मतदान को लेकर लोगों को प्रोत्साहित करती थी।

अब्दुल्ला ने माइक्रो-ब्लागिंग साइट ट्विटर पर लिखा, “एक समय जम्मू कश्मीर में प्रशासन को चुनाव करवाने में गर्व और संतुष्टि होती थी और अब प्रशासन मतदान का बहिष्कार करवाने तथा लोगों को वोट डालने से रोकने में लगा है। ‘नया कश्मीर’ का यह अजीब संस्करण है।”

नेशनल कांफ्रेस नेता ने उन रिपोर्टों पर यह प्रतिक्रिया व्यक्त की जिसमें कहा गया था कि दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग में डीडीसी चुनाव के दौरान अपना वोट डालने से रोके जा रहे उम्मीदवार का साक्षात्कार लेने वाले तीन पत्रकारों की पुलिस ने पिटाई की।

इससे पहले पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी प्रमुख एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी डीडीसी चुनावों में एक पार्टी विशेष के पक्ष में सुरक्षा बलों का इस्तेमाल किये जाने का आरोप लगाया था।

यह भी पढ़े: किसान आंदोलन में घुस आयी भारत विरोधी ताकतें अन्नदाताओं की छवि कर रही हैं धूमिल: सुशील

यह भी पढ़े: योगी मंत्रिमंडल द्वारा सैमसंग इंडिया के विशेष प्रोत्साहन प्रस्ताव को मिली मंजूरी

Related Articles