ओमिक्रॉन ने सेलिब्रेशन का रंग किया फीका, लागू हुए सख्त नियम

सेलिब्रेशन का रंग फीका पड़ने का असर दिखाई दे रहा है

देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन के खतरे को देखते हुए क्रिसमस और नए साल का जश्न कोविड प्रोटोकॉल के तहत होंगे. राज्य के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि 31 दिसंबर से 1 जनवरी तक मनाए जाने वाले साल के जश्न में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने के निर्देश दिए हैं. वहीं दिल्ली समेत कई राज्यों में नए साल के कार्यक्रमों पर बैन करने के बाद राज्य के कारोबारी भी परेशान हैं. उन्होंने लगता है कि राज्य में भी सरकार कार्यक्रमों पर कड़े नियम लागू कर सकती है.

ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों से सबक

असल देश में लगातार ओमिक्रॉन के मामलों में इजाफा हो रहा है और इसको देखते हुए राज्य में सख्ती का पालन किया जा रहा है. वहीं नए साल के आयोजनों के संबंध में बुधवार को दिशा-निर्देश जारी किए गए. वहीं सरकार के नए नियमों के मुताबिक नए साल का जश्न मनाने के लिए युवा ज्यादातर होटलों और क्लबों में एकत्रित होते हैं. ऐसे में नए साल के कार्यक्रमों में कोविड प्रोटोकॉल के नियम लागू होंगे.

कारोबारियों को ओमिक्रॉन का डर

असल में ओमिक्रान के खतरे को देखते हुए राज्य में कारोबारी खौफ में हैं. हालांकि लखनऊ शहर में क्रिसमस और न्यू ईयर के जश्न की तैयारियां शुरू हो गई हैं और होटल और रेस्टोरेंट ओनर को उम्मीद है कि इस साल उनके कारोबार में इजाफा होगा. क्योंकि पिछले दो साल से कारोबार पर कोरोना का असर हुआ है. वहीं क्रिसमस और न्यू ईयर के जश्न के लिए होटल बुकिंग पर डिस्काउंट दिया जा रहा है.

यह भी पढ़ें- प्रभु श्रीराम के नाम पर अयोध्या में जमीन घोटाला, घोटाले में मानन‍ियों के नाम पर CM योगी की सख्ती, दिए ये निर्देश

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)…

Related Articles