बेसिक शिक्षकों की आन लाइन हाजिरी के निर्देश

0

teacher2

लखनऊ। प्रदेश के समस्त मण्डलीय सहायक शिक्षा निदेशक (बेसिक) एवं समस्त जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों की प्रदेश स्तरीय समीक्षा बैठक को प्रदेश के बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन ने सम्बोधित करते हुए कहा कि शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए आन लाइन उपस्थिति लेने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाये।

श्री हसन आज निशातगंज स्थित बेसिक शिक्षा निदेशालय में आयोजित समीक्षा बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में अध्यापकों को कार्यालय सहायकों के समक्ष अपने कार्य के लिए खड़े होने की स्थिति न हो और समस्त अधिकारी अपने कार्यालय पर पर्याप्त नियंत्रण रखें। राज्य सरकार ईमानदारी से शिक्षकों की समस्याओं के निराकरण के लिए जहां कटिबद्ध है वहीं प्रत्येक बच्चे को गुणवत्तापरक शिक्षा देने के लिए प्रतिबद्ध है।

श्री हसन ने समस्त मण्डलीय/जनपदीय अधिकारियों को सख्त निर्देश दिये कि विद्यालय में अध्यापकों की शत-प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित की जाय। विद्यालयों में अध्यापकों के अनुपस्थित पाये जाने पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी एवं खण्ड शिक्षा अधिकारी को उत्तरदायी माना जायेगा। दोषी अध्यापकों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जाय। उन्होने इस बात पर विशेष बल दिया कि प्रत्येक दशा में अध्यापक विद्यालय में पहॅुचें।

बेसिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि बच्चों को उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान कराने के लिए सरकार द्वारा सभी प्रकार की सुविधायें उपलब्ध कराई जा रही हैं। गुणवत्तापरक शिक्षा दिये जाने में कहीं भी शिथिलता परिलक्षित होने पर कठोर कार्यवाही की जायेगी। उन्होने सभी अधिकारियों से अपील की कि वे बेसिक शिक्षा का स्तर उत्तरोत्तर ऊॅचा करने में अपने कर्तब्यों का पालन करते हुए पूर्ण सहयोग प्रदान करें।

श्री हसन ने मृतक आश्रित को अनुकम्पा पर नियुक्ति दिये जाने हेतु तीन माह के भीतर नियमानुसार प्रकरणों का निस्तारण सुनिश्चित किये जाने हेतु निर्देशित किया। इस वर्ष समस्त विद्यालयों में मार्च में वार्षिक परीक्षा का आयोजन किया जायेगा। उन्होने कहा कि फरवरी में प्रदेश स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा। श्री हसन द्वारा विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन योजना की गुणवत्ता सुनिश्चित किये जाने के लिए भी कड़े निर्देश दिये गये।

loading...
शेयर करें