एयरपोर्ट पर गर्भवती महिला को देश मणिपुर के सीएम ने किया कुछ ऐसा जिससी कोई उम्मीद भी नहीं कर सकता

0

गुवाहाटी। हम हमेशा सरकार की आलोचना करते हैं, लेकिन मणिपुर के मुख्यमंत्री एन.बीरेन सिंह ने इंसानियत की एक नई मिसाल कायम की है। अक्सर महिलाओं के हक और सुरक्षा के बारे में बात करने वाली सरकार सिर्फ बात ही करती है लेकिन जब कभी कुछ करने का मौका आता है तो पीछे हट जाती है। लेकिन बीरेन सिंह ने ये साबित कर दिया है कि वो सीएम होने से पहले इंसान भी हैं। मणिपुर के मुख्यमंत्री बीरेन सिंह ने एक गर्भवती महिला के लिए अपना वीवीआईपी लाउन्ज छोड़ दिया और बाकी यात्रियों के साथ कॉमन वेटिंग एरिया में इंतजार किया।

दरअसल, नई दिल्ली से इंफाल जाते समय बीरेन के जहाज से एक पक्षी टकरा गया था। उनका प्लेन गुवाहाटी में उतर तो गया था, लेकिन आगे उड़ान भरने की स्थिति में नहीं था। जब तक कोई वैकल्पिक इंतजाम किया जाता, बीरेन को वीवीआईपी लाउन्ज में इंतजार करने को कहा गया। बाद में बीरेन के स्टाफ ने उन्हें इंफाल जा रहे यात्रियों को हो रही परेशानियों के बारे में बताया।

सीएम ने बताया, ‘मैं नीचे आया और देखा कि एक प्रेगनेंट महिला घुटनों पर बैठी थी क्योंकि वह सामान्य कुर्सियों पर नहीं बैठ सकती थी। एयरलाइन अथॉरिटी ने उसके लिए कोई अलग इंतजाम नहीं किए थे।’ सीएम ने महिला के परिवार और अपने स्टाफ से बात की और महिला को वीवीआईपी लाउन्ज में आराम करने को कहा। सीएम ने कहा, ‘मुझे बताया गया कि वह आईवीएफ प्रेग्नेंसी में थी और डॉक्टरों ने उसे आराम करने की सलाह दी थी। उस महिला को आराम मिलना जरूरी था।’

बीरेन सिंह का ये कदम पूरे देश के लिए एक बड़ी मिसाल है। अगर सभी लोगों का दिल इनकी तरह बड़ा हो जाएगा तो देश की आधी से ज्यादा समस्या दूर हो जाएगी।

loading...
शेयर करें