कभी करते थे 8000 की Job ,आज हैं देश के सबसे युवा अरबपति

नई दिल्ली : बचपन में पढ़ाई-लिखाई में मन न लगने पर शतरंज में कॅरियर बनाने चले इस शख्स का जल्द ही शतरंज से भी मन उचट गया। फिर 14 साल की उम्र में बचपन के दोस्त के साथ मिलकर पुराने फोन खरीदने-बेचने का बिजनेस शुरू किया। लेकिन मां को पता चलते ही यह बिज़नेस भी बंद करना पड़ा। इस के बाद जब पर्सनल वजह से स्कूल ने एग्जाम देने पर रोक लगाई तो स्कूल छोड़ 8000 महीने पर कॉल सेंटर में Job शुरू कर दी।

Job छोड़ भाई के साथ शुरू की कंपनी

इस के बाद जो हुआ उस ने निखिल कामत की ज़िंदगी ही बदल दी। कॉल सेंटर छोड़ने के कुछ वक़्त बाद अपने बड़े भाई नितिन कामत  के साथ मिलकर ब्रोकरेज फर्म जेरोधा (Zerodha) की शुरुआत की और इसी की बदौलत आज निखिल देश के सबसे युवा अरबपति है।

यह है देश के सबसे बड़े ऑनलाइन ब्रोकरेज फर्म जेरोधा (Zerodha) के को-फाउंडर निखिल कामत (Nikhil kamath) की कहानी।

जिसे उन्होंने हाल ही में ह्यूमंस ऑफ बॉम्बे (Humans of Bombay) के साथ शेयर किया। ह्यूमंस ऑफ बॉम्बे को दिए एक इंटरव्यू में निखिल कामत ने बताया कि उनके पिता एक बैंक में जॉब करते थे और उनका जब उनका ट्रांसफर बेंगलुरु हो गया तो पुराने दोस्तों के बिछड़ने के बाद नए स्कूल की पढ़ाई में उनका मन नहीं लगा।

इसी वजह से उन्होंने स्कूल बंक कर शतरंज खेलना शुरू कर दिया। निखिल ने बताया की 14 साल की उम्र में पुराने मोबाइल फ़ोन्स का अपना पहला बिज़नेस शुरू किया।लेकिन जब उनकी मां को इस बात का पता चला तो उन्होंने सारे फोन टॉयलेट में फ्लश कर दिया और उनका यह बिजनेस बंद हो गया।

पहली सैलरी से शुरू की थी ट्रेडिंग

अटेंडेंस में कमी की वजह से स्कूल ने बोर्ड एग्जाम देने से मना किया और उनके पेरेंट्स को स्कूल में बुलाया। इस पर निखिल ने स्कूल ही छोड़ दिया। स्कूल से ड्रॉपआउट होने के बाद एक नकली बर्थ सर्टिफिकेट से एक कॉलसेंटर में 8000 रुपये सैलरी पर नौकरी शुरू की। इसी दौरान 18 साल की उम्र में उन्होंने पहली बार शेयर बाजार में पैसा लगाया। निखिल ने बताया की इस के बाद उनके पिता भी उन्हें पैसे मैनेज करने के लिए देने लगे।  इसके बाद निखिल ने कॉल सेंटर के मैनेजर को शेयर बाजार में इंवेस्ट करने के लिए मनाया और मैनेजर के पैसे को भी मार्केट में इंवेस्ट करने लगे।

निखिल कामत ने इंटरव्यू में बताया कि कॉल सेंटर में अपने आखरी साल में वे एक दिन भी ऑफिस नहीं गए तब भी उन्हें सैलरी के साथ इंसेंटिव मिलता रहा, क्योंकि उस समय तक वे अपनी पूरी टीम के पैसे को मार्केट में इंवेस्ट करा कर सबको अच्छा रिटर्न दिला रहे थे।

2010 में उन्होंने कॉल सेंटर की Job छोड़ दी और अपने बड़े भाई के साथ मिलकर Zerodha की शुरुआत की। उन्होंने बताया कि अरबपति बन जाने के बाद भी उनकी लाइफस्टाइल कोई बदलाव नहीं आया है। वे आज भी दिन के 85% समय काम करते हैं और इनसिक्योर रहते हैं।आपको बता दें कि निखिल कामत ने अपने बड़े भाई के साथ मिलकर ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी True Beacon की भी शुरुआत की है। 2020 में फोर्ब्स ने इन दोनों भाइयों को भारत के 100 सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में शामिल किया।

यह भी पढ़ें : रैपर DMX का निधन, Music Industry को बड़ा नुक्सान, जानें क्या बोले सितारे

Related Articles