अब एक क्लिक से होगा लखनऊ के लोगो की समस्या का समाधान

अब एक क्लिक से होगा लखनऊ के लोगो की समस्या का समाधान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के निवासी अब अपनी समस्याओं का समाधान एक ऐप के माध्यम से घर बैठे कर सकेंगे। नगर विकास मंत्री आशुतोष टण्डन तथा लखनऊ की महापौर संयुक्ता भाटिया ने आज राजधानी लखनऊ स्थित स्थानीय निकाय निदेशालय में लखनऊ-वन सिटीजन ऐप का शुभारम्भ किया। लखनऊ-वन सिटीजन ऐप के माध्यम से लखनऊ वासी नगर निगम से जुड़ी शिकायतें जैसे मृत पशुओं का समाधान, सफाई, कचरा एकत्र होना, सड़कों और फुटपाथ की मरम्मत (पैचवर्क) मलबा निस्तारण, जलभराव आदि समस्याएं को घर बैठे दर्ज करा सकेंगे।

पांच शहर शामिल करने का लक्ष्य

आशुतोष टण्डन ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने टॉप-10 स्मार्ट सिटी में यूपी के पांच शहरों को शामिल करने का लक्ष्य दिया है। इसी क्रम में लखनऊ-वन सिटीजन ऐप को लॉन्च किया गया है। आज का युग टेक्नोलॉजी का युग है और नगर विकास विभाग निरंतर नई टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर नागरिकों को अधिक से अधिक सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि इस ऐप के माध्यम से जनता घर बैठे ही अपने मोहल्ले या वार्ड की समस्याओं को दर्ज करा सकेगी जिसकी सूचना समस्या के निस्तारण बाद उसे प्राप्त हो सकेगी। इस ऐप के माध्यम से नगरवासी भवन कर कितना बकाया है, जानकर उसका भुगतान भी कर सकेंगे। साथ ही वे जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के तथा आइजीआरएस पोर्टल पर दर्ज शिकायतों के संबंध में भी जानकारी ले सकेंगे। इससे शहर की सुविधाओं में गुणांतर सुधार आएगा और लगातार इसकी मॉनिटरिंग भी होगी।

यह भी पढ़े : IPL में 200 मैच खेलने वाले पहले खिलाड़ी बने धोनी, रोहित शर्मा दूसरे नंबर पर

लखनऊ में ऐप से अन्य सुविधाएं

टण्डन ने कहा, कंट्रोल एंड कमांड सेंटर स्मार्ट सिटी की आत्मा है, जहां से तमाम तरह की सेवाओं की मॉनिटरिंग होगी। इस ऐप के माध्यम से लोगों को जानकारी मिलेगी और सेवाएं पहले से बेहतर होंगी। उन्होंने कहा कि लखनऊ नगर निगम के इस ऐप से अन्य सुविधाएं भी मिलेंगीं। ऐप के आसपास सेक्शन में शहर में संचालित होने वाले 180 सामुदायिक और 189 सार्वजनिक शौचालयों, होटलों, अस्पतालों, स्कूलों, सामुदायिक भवनों, पार्क, यातायात से जुड़ी जानकारी और आसपास के एटीएम के बारे में भी जानकारी हासिल की जा सकेगी। इसके साथ ही हेल्पलाइन एंबुलेंस सेवा, महिला सेवा, नगर निगम कॉल सेंटर और इमरजेंसी के फोन नंबर भी ऐप के इसी सेक्शन में मिल जाएंगे।

यह भी पढ़े : यमुना एक्सप्रेसवे को इलेक्ट्रिक-हाईवे बनाने की हुई घोषणा, अटल जी को होगा समर्पित

समस्या समाधान के लिए कंट्रोल रूम की स्थापना

नगर विकास मंत्री ने कहा, ‘कि जनता द्वारा इस ऐप के माध्यम से भेजी जाने वाली शिकायतों का त्वरित समाधान किए जाने के लिये एक कंट्रोल रूम की भी स्थापना की गई है। इस कंट्रोल रूम में तीन पालियों में कर्मचारियों को तैनात किया गया है। इस ऐप के माध्यम से एम चालान को भी कनेक्ट किया गया है। इसके तहत स्वच्छता संबंधी नियम तोड़ने वालों का एम चालान भी किया जायेगा’।

Related Articles