बहन बनकर दुष्कर्म के आरोपी से मिलने जेल पहुंची युवती, 10 लाख रूपये में मामला निपटाने की कही बात  

0

देहरादून। उत्तराखंड में एक बहुत ही अजीबोगरीब मामला सामने आय़ा है। इस मामले में एक युवती ने ऐसा काम किया है कि दुनिया भर की महिलाएं इस बात से शर्मशार हो जाएंगी। दरअसल मामला यह है कि एक युवती ने दुष्कर्म का मुकदमा लिखाने के बाद मामला निपटाने के लिए 10 लाख रुपये की डिमांड की है। और सबसे ज्यादा चौकाने वाली बात यह है कि यह युवती दुष्कर्म के आरोपी से सौदा करने खुद जेल में उसकी बहन बनकर पहुंची।

युवती पर आरोप है कि उसने मुकदमा खत्म करने के लिए रंगदारी मांगी थी। इस मामले में जब युवती के लिए  गैर जमानती वारंट जारी हुआ तब युवती ने कोर्ट में आत्मसमर्पण किया।

क्या था मामला

यह मामला साल 2016 का है जब शहर के बरेली रोड पर रहने वाली एक युवती ने गांधीनगर निवासी राहुल मसीह पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने राहुल को गिरफ्तार कर न्यायालय के आदेश पर जेल भेजा। कुछ समय बाद राहुल ने जेल से कोतवाली पुलिस को एक शिकायती पत्र भेजा और उस पत्र में लिखा था कि 24 जुलाई 2016 को कथित दुष्कर्म पीड़िता जेल में उससे मिलने आई थी। युवती ने जेल अधीक्षक को मिलाई के लिए दिए पत्र में खुद को राहुल की बहन बताया।

युवती पर आरोप  है कि युवती ने जेल के भीतर दुष्कर्म के मामले को निपटाने के लिए 10 लाख रुपये मांगे थे। साथ ही राहुल को जमानत पर रिहा होकर बाहर आने पर जान से मारने की धमकी भी दी। राहुल ने सूचना अधिकार अधिनियम में युवती के जेल में मिलने आने पर बहन होने की झूठी जानकारी देने की सूचना मांगी और इसकी प्रति संलग्न की। राहुल की तहरीर पर पुलिस ने 13 अक्टूबर 2016 को युवती के विरुद्ध धारा मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू की। पुलिस युवती के खिलाफ रंगदारी की जांच कर आरोप पत्र न्यायालय में दाखिल कर चुकी है। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद न्यायालय ने युवती के अधिवक्ता की ओर से दिए जमानती पत्र को खारिज कर दिया है। न्यायालय के आदेश पर युवती को जेल भेजा गया है।

loading...
शेयर करें