डीयू में पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन लेने के लिए देना होगा अब ऑनलाइन एंट्रेंस टेस्ट

0

नई दिल्ली। दिल्ली यूनिवर्सिटी ने इस बार पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन लेने के लिए ऑनलाइन एंट्रेंस टेस्ट का आयोजन किया हैं। इस साल से डीयू में पोस्ट ग्रेजुएट, एमफिल और पीएचडी कोर्सों के लिए आनलाइन प्रवेश परीक्षा करवाई जाएगी। पिछ्हले साल स्टूडेंट्स के विरोध की वजह से इस योजना को सार्थक नहीं बनाया जा सका। छात्रों का कहना था कि ऑनलाइन परीक्षा की स्थिति में गरीब और पिछड़े क्षेत्र के छात्रों को नुकसान होगा।दिल्ली यूनिवर्सिटी

जैसा कि आपको बता दे कि डीयू 50 से ज्यादा पोस्टग्रेजुएट कोर्स ऑफर करता है। मास्टर्स की 50 फीसदी सीटों के प्रवेश के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन होता है। बाकि बची हुई सीटों के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय सीधा स्टूडेंट्स का एडमिशन लेता हैं। बता दे सीधे दाखिले के लिए छात्रों का ग्रैजुएशन में 60 फीसदी मार्क्स और प्रवेश परीक्षा की स्थिति में 55 फीसदी मार्क्स होना जरूरी है। डीयू में ग्रैजुएशन के मैनेजमेंट कोर्सेज की रेस मई के पहले हफ्ते में शुरू हो सकती है। मैनेजमेंट के सबसे ज्यादा पॉप्युलर तीन कोर्सेज हैं-बैचलर ऑफ मैनेजमेंट (बीएमएस), बीए ऑनर्स बिजनेस इकनॉमिक्स और बीए (फाइनैंशल इन्वेस्टमेंट एनालिसिस)। इन कोर्सेज में हजारों की संख्या में छात्र आवेदन करते हैं।

बीए, बीकॉम, बीएससी समेत ग्रैजुएशन के दूसरे कोर्सेज में ऐडमिशन की फाइनल डेट्स को लेकर अब तक डीयू ऐडमिनिस्ट्रेशन अंतिम फैसला नहीं ले सका है। सूत्रों का कहना है कि अप्रैल के आखिर या मई के पहले हफ्ते में इन कोर्सेज के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू होगा। पिछले साल 22 मई से ऐडमिशन प्रोसेस शुरू हुआ था, लेकिन इस साल डीयू ने एक महीने पहले ऐडमिशन प्रोसेस शुरू करने की तैयारी की थी। इसके लिए जनवरी में ही 47 सदस्यों की ऐडमिशन कमिटी बनाई गई थी। हालांकि, बाद में इस कमिटी को अडवाइजरी कमिटी बना दिया गया और 8 से 9 सदस्यों को ऐडमिशन कमिटी में शामिल किया गया। यह कमिटी दो बार मीटिंग कर चुकी है और अप्रैल में 15 दिन से ज्यादा बीत चुके हैं, लेकिन अब तक यूनिवर्सिटी ने फाइनल शेड्यूल का ऐलान नहीं किया है। यूनिवर्सिटी के सूत्र बता रहे हैं कि अप्रैल के आखिर, मई के पहले हफ्ते को ध्यान में रखकर तैयारी की जा रही है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा और जून में कटऑफ आएंगी। यूनिवर्सिटी का प्लान था कि बोर्ड एग्जाम खत्म होने के बाद स्टूडेंट्स आराम से फॉर्म फिल कर दें और फिर जब रिजल्ट आए तो फिर मार्क्स फिल करें। खास बात यह है कि कॉलेजों को भी ऐडमिशन शेड्यूल के बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं दी गई है।

डीयू में पीजी कोर्सेज में 50 पर्सेंट सीटें डीयू से ग्रैजुएशन पूरी करने वाले स्टूडेंट्स के लिए रिजर्व होती हैं। उन स्टूडेंट्स को मेरिट के बेस पर ऐडमिशन मिलता है। बाकी 50 पर्सेंट सीटों पर देश के किसी भी कोने से स्टूडेंट्स अप्लाई कर सकते हैं। डीयू की पहले योजना थी कि सारी सीटों को एंट्रेंस के जरिए भरा जाए, लेकिन बाद में इस प्रपोजल को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया। इस साल पीजी कोर्सेज में ऐडमिशन पहले के फॉर्म्युले के मुताबिक ही होंगे।

loading...
शेयर करें