अस्थि विसर्जन की ऑनलाइन ‘Om Divya Darshan’ योजना शुरू, लाइव दिखाया जाएगा अंतिम संस्कार

उत्तर प्रदेश के जिले प्रयागराज (Prayagraj) में डाक विभाग ने अस्थि विसर्जन की नई सुविधा की शुरुआत की है, व्यक्ति को ‘ओम दिव्य दर्शन’ के पोर्ट पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा

लखनऊ: देश में कोरोना वायरस (Corona virus) की दूसरी वेव में लाखों की संख्या में लोगों की मौत हुई है। कोरोना गाइडलाइन के मुताबिक मृतकों का अंतिम संस्कार परंपराओं से नहीं हो पा रहा है। जिसे देखते हुए भारतीय डाक विभाग (Indian Postal Department) ने एक पहल शुरू की है। जिसके अनुसार देश के किसी भी इलाके से अस्थियां डाकघरों से स्पीड पोस्ट के द्वारा धार्मिक स्थल की जगहों पर भेजी जा सकेगी।

अस्थि विसर्जन की शुरुआत

उत्तर प्रदेश के जिले प्रयागराज (Prayagraj) में डाक विभाग ने अस्थि विसर्जन की नई सुविधा की शुरुआत की है। डाक विभाग में प्रवर अधीक्षक संजय डी. आखाड़े ने कहा कि, अस्थियां प्रयागराज, हरिद्वार, गया और बनारस में विसर्जित की जाती है। कोरोना में लोगों की दिक्कतें कम करने के लिए डाक विभाग ये योजना लाया है।

डाक विभाग में प्रवर अधीक्षक ने बताया कि, लोग अस्थि को कलश में पैक करके स्पीड पोस्ट कर सकते हैं। हम उसे ‘ओम दिव्य दर्शन’ (Om Divya Darshan) के प्रतिनिधियों के पास भेजेंगे और वे उसे विसर्जित, श्राद्ध करेंगे और ऑनलाइन परिवार को दिखाएंगे। इसके बाद हेड पोस्ट ऑफिस दिल्ली से परिवार को गंगाजल की बोतल भेजी जाएगी।

ओम दिव्य दर्शन के पोर्ट पर रजिस्ट्रेशन

इस सुविधा को प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को ‘ओम दिव्य दर्शन’ के पोर्ट पर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। जिसके बाद डाक के माध्यम से मृतक का अंतिम संस्कार पारंपराओं के साथ करके अस्थियों का पैकेट स्पीट पोस्ट के माध्यम से परिवार को भेजा जाएगा। इस अंतिम संस्कार के इस प्रक्रिया को परिवार ऑनलाइन देखेंगे। स्पीड पोस्ट का शुल्क भेजने वाले व्यक्ति से ही लिया जाएगा।

यह भी पढ़ेCorona Update: देश में COVID-19 के 92,596 नए मामले, जानें अपने राज्य में संक्रमण का आंकड़ा

Related Articles