अन्य राज्यों से यूपी में आने वाले वाहनों के लिए ऑनलाइन कर संग्रहण की होंगी सुविधा 

उत्तर प्रदेश सरकार ने परिवहन विभाग की और पांच सेवाओं को ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल से इंटीग्रेट कराते हुए काॅमन सर्विस सेंटर के माध्यम आमजनमानस को उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने परिवहन विभाग की और पांच सेवाओं को ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल से इंटीग्रेट कराते हुए काॅमन सर्विस सेंटर के माध्यम आमजनमानस को उपलब्ध कराये जाने का निर्णय लिया है। इसके तहत उत्तर प्रदेश में पंजीकृत तथा अन्य प्रदेशों से यूपी में आने वाले वाहनों के लिए ऑनलाइन कर संग्रहण की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। इसके साथ ही वाहनों का स्वस्थता प्रमाण-पत्र एवं पंजीयन प्रमाण-पत्र का नवीनीकरण भी ऑनलाइन किया जायेगा।

इसके अतिरिक्त वाहन डीलरों के लिए नया ट्रेड सार्टिफिकेट तथा प्रदूषण जांच केन्द्र की स्थापना हेतु प्रमाण-पत्र भी ऑलाइन जारी होंगे। इस सबंध में विभाग के प्रमुख सचिव राजेश कुमार सिंह ने आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये हैं। यह भी निर्णय लिया गया है कि विभागीय ऑनलाइन सेवाओं को जनमानस तक आसानी पहुंचाने के लिए मण्डल मुख्यालय पर 02 तथा जनपद मुख्यालय पर 01 काॅमन सर्विस सेंटर खोले जायेंगे।

ये भी पढ़ें : गिल ने रहाणे की तारीफ, कठिन समय में कैसे करें बल्लेबाजी हमने उनसे सीखा 

ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल के माध्यम से आये आवेदनों को विभागीय सक्षम अधिकारी द्वारा उसी तरह प्रोसेस किया जायेगा, जिस तरह वर्तमान में विभागीय पोर्टल पर प्रोसेस किया जा रहा है। इसके साथ ही समस्त कार्यवाहियां शीघ्र प्राथमिकता पर पूर्ण कराकर कृत कार्यवाही से शासन को अवगत कराने के निर्देश परिवहन आयुक्त तथा सभी मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारियों को दिये गये है।

ये भी पढ़ें : वाहनों से संबंधित सभी कागजात की वैधता अवधि 31 मार्च तक बढ़ी

29 प्रकार की सेवाएं ऑनलाइन होंगी उपलब्ध

गौरतलब है कि परिवहन विभाग द्वारा वर्तमान में वाहन संबंधी 14 सेवाओं तथा ड्राइविंग लाइसेंस से संबंधित 10 सेवाओं कुल 24 सेवाओं को ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल से जोड़कर काॅमन सर्विस सेंटर के माध्यम लोगों यह सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं। पोर्टल पर 05 प्रकार की सेवाएं और जुड़ जाने से अब कुल 29 प्रकार की सेवाएं ऑनलाइन लोगों को उपलब्ध होंगी।

Related Articles