सिर्फ आतंकवाद पर लगाया ध्यान, अब भुखमरी के मुहाने पर खड़ा है Pakistan

इस्लामाबाद : पाकिस्तान आज भूखमरी के कगार पर पहुंच गया है। खबर है कि Pakistan की इमरान सरकार के पास सरकारी स्टॉक में अब सिर्फ तीन हफ्तों का गेहूं बचा है। इस बात का गवाह है पाकिस्तान के फाइनेंस मिनिस्टर शौकत तरीन का हाल ही में जारी किया गया बयान जिसमे उन्होंने कहा था की सरकार को फ़ौरन साठ लाख मीट्रिक टन गेहूं रिजर्व करने की जरूरत है।

सियासत की खबर के मुताबिक पाकिस्तान की एक्सप्रेस ट्रिब्यून नेशनल प्राइस मॉनिटरिंग कमिटी की मीटिंग में बोलते हुए तरीन ने कहा  कि अब पाकिस्तान के ग्रेन रिज़र्व में सिर्फ 6,47,687 टन गेहूं ही बचा था। गेहूं के मौजूदा कंसम्पशन को देखते हुए और हर मुमकिन कटौती के बावजूद  यह बमुश्किल ढाई हफ्ते और चल सकता है।

Pakistan में मई से शुरू होगी नयी फसल की कटाई

इस मसले के जानकारों की माने तो अप्रैल के ख़त्म होते -होते  पाकिस्तान का गेहूं भंडार घटकर 3,84,000 मीट्रिक टन के करीब हो जाएगा। यह वो वक्त होगा जब देश में नए गेहूं की कटाई शुरू होगी। मिनिस्टर के बयान के मुताबिक पाकिस्तान के पंजाब प्रोविएन्स में गेहूं का स्टॉक 4 लाख मीट्रिक टन से भी कम हो गया है। जबकि सिंध में 57,000 मीट्रिक टन गेहूं ही बचा है। इस कड़ी में खैबर-पख्तुनख्वा में 58,000 टन और पाकिस्तान एग्रीकल्चरल स्टोरेज कॉर्प में 1,40,000 मीट्रिक टन गेहूं का स्टॉक ही बचा है।

नेशनल प्राइस मॉनिटरिंग कमिटी की मीटिंग में पाकिस्तान के फाइनेंस मिनिस्टर ने गेहूं के रिजर्व को जल्द बढ़ाने पर जोर दिया और सरकार को  वक्त पर सही तरीके से गेहूं की खरीदारी करनेकी सलाह दी। उन्होंने कहा की  मुमकिन है कि अगर सही वक्त पर गेहूं की कटाई और सरकारी खरीद शुरू हो गई तो पाकिस्तान इस मुश्किल से निकल सकता है।

यह भी पढ़ें : Britannia ने जारी किये Q4 के नतीजे, वॉल्यूम बढ़ा लेकिन लेकिन मुनाफे में आई गिरावट

Related Articles

Back to top button