इस कंपनी में सिर्फ आत्मनिर्भर महिलाओं की जरूरत, दो मिनट में इलेक्ट्रिक स्कूटर तैयार

नई दिल्ली: अब तक हम सभी लोग कहीं आने-जाने के लिए प्राइवेट कैब (टैक्सी) को बुक करते हैं। लेकिन अब कैब संचालन करने वाली कंपनी ओला तमिलनाडु  में इलेक्ट्रिक स्कूटर के लिए फ्यूचर फैक्ट्री तैयार कर रही है। कंपनी के सीईओ भाविश अग्रवाल ने ऐलान की है कि उसकी कंपनी का संचालन केवल और केवल महिलाएं करेंगी। इसके लिए 10 हजार से अधिक महिलाओं को हायर किया जा रहा है।

इस साल 15 अगस्त को इलेक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च करने वाली ओला ने एक विशेष फैक्ट्री स्थापित करने की घोषणा की है जिसमें केवल महिलाएं शामिल होंगी। कारखाने में निर्माण के लिए 10,000 महिला कर्मचारियों को रखा जाएगा।

कंपनी का मानना ​​है कि आत्मनिर्भर भारत के लिए आत्मनिर्भर महिलाओं की जरूरत है। ओला के सीईओ भाविश अग्रवाल ने एक ट्वीट में कहा, “आज मुझे यह घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि ओला फ्यूचर फैक्ट्री पूरी तरह से महिलाओं द्वारा चलाई जाएगी। हमने इस सप्ताह इस कार्यबल के पहले बैच का स्वागत किया और फैक्ट्री शुरू होने पर 10,000 महिलाएं होंगी। पूरी क्षमता से। मुझे ओला वुमन ओनली फैक्ट्री और दुनिया की पहली ऐसी फैक्ट्री की घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है।”

https://twitter.com/bhash/status/1437305316308176898?s=19

ओला ने अपने इलेक्ट्रिक स्कूटर के दो वेरिएंट ओला एस1 और ओला एस1 प्रो लॉन्च किए। इसमें ओला एस1 की एक्स-शोरूम कीमत 99,999 रुपये और ओला एस1 प्रो की कीमत 1,29,999 रुपये है।

सीईओ ने इस बात पर भी जोर दिया कि इलेक्ट्रिक स्कूटरों की खरीद पूरी तरह से डिजिटल हो गई है। ग्राहकों के लिए इसे आसान बनाने के लिए दोनों प्रकारों के लिए ऋण प्रक्रिया को डिजिटल और पेपरलेस किया गया है। सीईओ ने कहा, “हम अपने ग्राहकों को अपनी तरह का यह पहला डिजिटल खरीदारी अनुभव प्रदान करना चाहते हैं।”

Related Articles