प्राइवेट स्कूलों के संचालकों ने प्रदर्शन कर स्कूल खुलवाने की मांग की

स्कूल संचालकों ने प्राईवेट स्कूल संघ के प्रदेशाध्यक्ष सत्यवान कुंडू की अध्यक्षता में उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन देते हुए पहली से आठवीं तक भी स्कूलों को भी नियमित तौर पर खोलने की मांग की।

हिसार: काेविड-19 महामारी के कारण पिछले लगभग नौ महीने से बंद स्कूलों को खुलवाने की मांग को लेकर निजी स्कूलों के संचालकों ने आज यहां प्रदर्शन किया।
स्कूल संचालकों ने प्राईवेट स्कूल संघ के प्रदेशाध्यक्ष सत्यवान कुंडू की अध्यक्षता में उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री (Chief Minister) के नाम ज्ञापन देते हुए पहली से आठवीं तक भी स्कूलों को भी नियमित तौर पर खोलने की मांग की।
जिले भर के विभिन्न स्कूलों के संचालक सेक्टर 15 स्थित पार्क में एकत्र हुए और एक जुलूस के रूप में लघु सचिवालय पहुंचकर उपायुक्त की अनुपस्थिति में तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।

सत्यवान कुंडू ने मुख्यमंत्री को दिया ज्ञापन

सत्यवान कुंडू ने कहा कि स्कूल बंद होने से बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण व शहरी जनता के एक बड़े वर्ग के पास स्मार्ट फोन की उपलब्धता बच्चों के लिए संभव नहीं है व जिनके पास है वे भी ऑनलाइन माध्यम से मिलने वाली शिक्षा से कक्षा में मिलने वाली शिक्षा के बराबर लाभ नहीं ले पा रहे हैं। इसलिए पहली से आठवीं तक की स्कूल खोले जाएं ताकि बच्चे नियमित तौर पर अपनी पढ़ाई सुचारू कर पाएं।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के कारण नौकरियां व व्यवसायिक कार्य बंद होने की वजह से सरकारी आदेशों और खबरों में अंतर होने से बने भ्रम के कारण काफी संख्या में विद्यार्थियों ने स्कूलों की फीस जमा नहीं कराई है। इसलिए निजी स्कूलों की वित्तीय स्थिति खराब हो गई है।

वित्तीय सहायता देकर स्कूलों को बचाए

उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से वित्तीय सहायता देकर स्कूलों को बचाया जाए ताकि कर्मचारियों को वेतन दिया जा सके। इसके साथ-साथ उन्होंने मार्च माह से बंद पड़ी स्कूल बसों की पासिंग फीस, टैक्स और बीमा को माफ करने करने तथा नियम 134ए के तहत पढ़ने वाले छात्रों के लिए सरकार की तरफ से दी जाने वाली फीस स्कूलों को जल्द से जल्द जारी करने की मांग को भी प्रमुखता के साथ उठाया ताकि स्कूल को राहत मिल सके।

यह भी पढ़े: कोरोना को रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाना जरूरी : योगी

Related Articles