ओप्पो ने कोर्पोरेट सोशल जिम्मेदारी (सीएसआर) पहल ‘वॉल ऑफ नॉलेज’ शुरू करने की घोषणा की

ओप्पो इंडिया ने इन विद्यार्थियों का प्रकाश बनने और इनके बीच ज्ञान का प्रकाश फैलाने का निर्णय लिया है।

नयी दिल्ली: स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनी ओप्पो इंडिया ने कोर्पोरेट सोशल जिम्मेदारी (सीएसआर) पहल ‘वॉल ऑफ नॉलेज’ शुरू करने की घोषणा की है जिसका उद्देश्य वंचित बच्चों को वर्चुअल शिक्षा की दुनिया से जुड़ने की सुविधा देना है।

कंपनी ने आज यहां जारी बयान में कहा कि वॉल ऑफ नॉलेज एक इकाई है जिसके साथ कई मोबाइल उपकरण एक टेबल पर रखे हैं जिसके सामने एक बड़ी एलईडी स्क्रीन है जो बच्चों को वर्चुअल शिक्षा प्रदान करता है। इस पहल का वंचित बच्चों को बहुत अधिक लाभ होगा और उनके ज्ञानवर्धन में मदद मिलेगी जिससे उनकी डिजिटल अभिरुचि बढ़ेगी।

कंपनी के उपाध्यक्ष और शोध एवं विकास प्रमुख तस्लीम आरिफ ने कहा कि यह साल बहुत चुनौतियों भरा रहा। बड़ी तादाद में बच्चे आज भी ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करने की तकनीक से वंचित हैं। ओप्पो इंडिया ने इन विद्यार्थियों का प्रकाश बनने और इनके बीच ज्ञान का प्रकाश फैलाने का निर्णय लिया है। इस पहल के जरिये कंपनी मोबाइल की सुलभ तकनीक प्रदान कर रही है जो अब देश के छोटे-छोटे बच्चों तक पहुंच रही है।

हाल ही में 23 राज्यों ने 40,000 बच्चों के बीच की गई एक सर्वे में यह सामने आया है कि लगभग 56 प्रतिशत बच्चों के पास स्मार्टफोन की सुविधा नहीं है।

ओप्पो ने वॉल ऑफ नॉलेज का आरंभ और स्थापित करने के मकसद से नोएडा, लखनऊ, कोलकाता, हैदराबाद और चेन्नई जैसे शहरों के चुनिंदा स्थानीय गैर सरकारी संगठनों से भागीदारी की है। इन एनजीअो के बच्चों को इस पहल के तहत वाई-फाई सक्षम नवीनतम ओप्पो मोबाइल उपकरणों की सुविधा मिलेगी।

इसे भी पढ़े: शाहरुख खान की फिल्म ‘लव हॉस्टल’ में नज़र आयेंगे एक्टर बॉबी देओल

Related Articles

Back to top button