पाकिस्तानः इमरान सरकार के खिलाफ एकजुट हुआ विपक्ष, रैली में की आजाद बलूचिस्तान की मांग

विपक्ष द्वारा आयोजित रैली में आजाद बलूचिस्तान की आवाज ने पाकिस्तान की सियासत में भूचाल ला  दिया है।

नई दिल्लीः पाकिस्तान में इमरान सरकार के खिलाफ लामबंद हुए विपक्ष ने पाकिस्तान सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसी कड़ी में विपक्ष द्वारा आयोजित रैली में आजाद बलूचिस्तान की आवाज ने पाकिस्तान की सियासत में भूचाल ला  दिया है।

दरअसल पाकिस्तान की 11 विपक्षी पार्टियों नेइमरान सरकार के खिलाफ हाथ मिला लिया है। वहीं  विपक्षी दलों के गठबंधन ‘पीडीएम’ ने गुजरांवाला और कराची के बाद बलूचिस्तान प्रांत की राजधानी क्वेटा में तीसरी रैली का आयोजन किया। इस रैली में जहां पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से लोगों से रूबरू हुए, वहीं शरीफ की बेटी मरियम नवाज ने भी इमरान खान पर जमकर निशाना साधा है।

रैली को संबोधित करते हुए नवाज शरीफ ने कहा कि, जनरल बाजवा आपको 2018 में हुए चुनाव रिकॉर्ड धांधली के लिए जवाब देना होगा। मुझे बलूचों की तकलीफें पता हैं, वहां के लापता पीड़ितों का दर्द मुझे भी है। नवाज ने आईएसआई प्रमुख पर भी कई वर्षों तक राजनीति में दखल का आरोप लगाया।

वहीं मरियम नवाज ने इमरान सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि, पाकिस्तान और बलूचिस्तान के भाग्य को बदलने का वक्त आ गया है। अब आपके पति और भाई या बलूच नागरिक लापता नहीं होंगे। तानाशाही का सूरज डूबने वाला है और इमरान का कठपुतली शो जल्द ही खत्म हो जाएगा।

इस रैली के दौरान पीपीपी नेता बिलावल भुट्टो जरदारी ने भी वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बलूचिस्तान के लोगों को न्याय देने का आश्वासन दिया है।

गौरतलब है कि विपक्ष की रैली में उठी आजाद बलूचिस्तान की मांग ने पाकिस्तान की सियासत में एक नया भूचाल ला दिया है, वहीं इमरान सरकार के कई नेताओं ने विपक्ष की इस मांग की जमकर आलोचलना की है।

Related Articles

Back to top button