दिल्ली सरकार का आदेश, 28 फ़रवरी से पहले न करें छुट्टी के लिए अप्लाई, वरना…

0

नई दिल्ली। इन दिनों दिल्ली के टीचरों के खिलाफ सरकार ने सख्त कदम उठाये हैं। जिससे शिक्षकों को बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है। समरेटिव मूल्यांकन में निराशाजनक रिजल्ट और दिल्ली सरकार के स्कूलों में टीचरों की कमी को देखते हुए शिक्षा निदेशालय ने 9वीं से 12वीं क्लास तक के सभी टीचरों को 28 फरवरी से पहले तक छुट्टी देने से साफ़ मना कर दिया है। इस फैलसे से नाखुश टीचरों ने मांग की है कि यह फैसला जल्द से जल्द वापस लिया जाये।

यह भी पढ़ें, स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खुशखबरी, मार्च में होंगे बोर्ड एग्जाम

दिल्ली सरकार

बता दें, शिक्षा निदेशालय ने एक सर्कुलर जारी करते हुए कहा है कि इन दिनों शिक्षा पर ध्यान देने के लिए बिल्कुल सही समय चल रहा है। दिल्ली के स्कूलों में पहले से ही टीचरों की काफी कमी रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए 9वीं से 12वीं क्लास तक के सभी टीचरों को 28 फरवरी से पहले तक छुट्टी न देने का फैसला किया गया है।

सर्कुलर में कहा गया है कि मेडिकल एमरजेंसी में छुट्टी चिकित्सा बोर्ड द्वारा ही प्राप्त होगी। इसके अलावा “आपातकालीन परिस्थितियों में, जिला शिक्षा कार्यालय द्वारा छुट्टी को मंजूरी मिलेगी। दरअसल, दिल्ली में मौजूद करीब 1,100 स्कूलों में लगभग 17,000 पद टीचरों के लिए अभी तक खाली पड़े हुए हैं। यही वजह है कि दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशालय के आदेश के चलते टीचरों को अपनी छुट्टी टालनी पड़ रही है।

loading...
शेयर करें