देहरादून: डॉक्टर ने 102 साल के बुजुर्ग को दी दूसरी जिंदगी

Operation Thetre

देहरादून। धरती पर अगर भगवान कोई है तो वह है डॉक्टर। डॉक्टर आज के जमाने में कुछ भी कर सकने में समर्थ हैं। दून हॉस्पिटल में डॉक्टरों ने कुछ ऐसा ही कारनामा किया है। 102 साल के बुजुर्ग की एक हड्डी का ऑपरेशन करने में डॉक्टरों को कामयाबी हासिल हुई है। खुशी के बाद बुजुर्ग की हालत ठीक है। वहीं मरीज की अधिक उम्र होने के कारण निजी हॉस्पिटलों ने इलाज करने से साफ मना कर दिया था।

गिरने से लगी थी चोट
दून हॉस्पिटल के आर्थो सर्जन डॉ. वाईएस थपलियाल ने बताया कि 102 साल के प्यारेलाल अपने घर के आंगन में अचानक गिर पड़े थे। जिस वजह से उनके कूल्हे की हड्डी टूट गई थी। इसके बाद परिजनों ने उन्हें प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया।

पहली बार हुई इतनी उम्रदराज मरीज की सर्जरी
प्राइवेट अस्पताल के डॉक्टरों ने मरीज की उम्र ज्यादा होने के कारण सर्जरी करने से इनकार कर दिया। उन्होंने बताया कि इस उम्र में कैल्शियम की कमी के कारण हड्डियां जुड़ने में दिक्कत होती है। इसके अलावा भी अधिक उम्र के कारण कई तरह की समस्याएं होती हैं।

घरवालों ने हिम्मत नहीं हारी
हताश परिजनों ने उन्हें दून अस्पताल में भर्ती कराया। दून अस्पताल के आर्थो सर्जन डॉ. वाईएस थपलियाल और डॉ. नूतन भट्ट ने करीब दो घंटे में जटिल सर्जरी की। सर्जरी के बाद बुजुर्ग की हालत में सुधार हो रहा है। डॉ. थपलियाल ने बताया कि उन्होंने पहली बार इतनी अधिक उम्र के मरीज की सर्जरी की है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button