तमिलनाडु में जंगल की आग में फंसे ट्रैकिंग पर गए 30 लोग, 9 की मौत

0

चेन्नई। तमिलनाडु के थेनी जिले में कुरंगनी पहाड़ियों के जंगल में लगी आग में फंसे ट्रैकर्स को बचाकर उन्हें मैदानी इलाकों में पहुंचाने का प्रयास जारी है। कुरंगनी पहाड़ी पर 36 लोगों ग्रुप शनिवार को ट्रैकिंग के लिए गया था। ये लोग रविवार को जंगल की आग में फंस गए। ताजा जानकारी के मुताबिक 4 महिलाओं-एक बच्चे समेत 9 लोगों की मौत हो गई। 27 को बचा लिया गया है, जिनमें 8 की हालत गंभीर है।

जंगल में लगी आग में फंसे ट्रैकर्स

आईएएफ की कमांडो टीम खोज और बचाव कार्य में शामिल है

जिला कलेक्टर पल्लवी बलदेव ने बताया कि घायलों में से तीन को मदुराई के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जिन्हें मामूली चोटें आई हैं। भारतीय वायु सेना (आईएएफ) की कमांडो टीम खोज और बचाव कार्य में शामिल है। आईएएफ कमांडो टीम रविवार देर रात कोयंबटूर के पास स्थित सुलुर हवाईअड्डे से उड़ान भरकर पहाड़ियों पर पहुंच गई है।

13 एम्बुलेंस को इस काम में लगाया गया है

जानकारी के मुताबिक, ट्रैकिंग के दौरान जंगल में आग के बीच फंसे एक स्टूडेंट ने वहां अचानक आग लगने की जानकारी अपने पिता को फोन किया और फिर ये सूचना वन विभाग को मिली। स्टूडेंट्स को निकालने के लिए फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने भी अपने 40 लोग लगा रखे हैं। जख्मियों को जिला अस्पताल में इलाज जारी है। 13 एम्बुलेंस को इस काम में लगाया गया है।

इलाज के लिए मदुरई के सरकारी अस्पताल ले जाया गया है

वहीं, गंभीर रूप से घायलों को बेहतर इलाज के लिए मदुरई के सरकारी अस्पताल में ले जाने की बात सामने आई है। उल्लेखनीय है कि शनिवार रात तेनी जिला स्थित कुरंगनी की पहाड़ियों पर 25 महिलाओं, तीन बच्चों और आठ पुरुषों का समूह ट्रैकिंग के लिए पहुंचा था। वे रविवार को वापस आने वाले थे।

loading...
शेयर करें