आजमगढ़ में मिले ओवैसी और शिवपाल, बिगाड़ सकते हैं इन पार्टियों का खेल

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ( लोहिया ) के अध्‍यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने मुलाकात की AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी  से।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh )में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं लेकिन प्रदेश में सियासी खिचड़ी अभी से पकनी शुरू हो गई है। BJP, SP, BSP जैसे बड़े सियासी दल जहां ज्यादा से ज्यादा सीटें जीतने के लिए मजबूत प्रत्याशियों की तलाश कर रहे हैं तो छोटे राजनीतिक दल ऐसे साथियों की तलाश कर रहे है जो चुनाव में उन्हें अपना प्रभाव दिखाने में मदद कर सकें। मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी ( लोहिया ) के अध्‍यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने मुलाकात की AIMIM के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी  से।

दोनों की बीच में ये मुलाकात सपा प्रमुख और सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में एक शादी समारोह में हुई। शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि वह शादी समारोह में आए हैं लेकिन उनकी AIMIM के अध्‍यक्ष ओवैसी के साथ बैठक हुई है। उन्‍होंने कहा, ”हम पहले ही कह चुके हैं कि समान विचारधारा और सभी धर्मनिरपेक्ष शक्तियों के लोग मिलकर भारतीय जनता पार्टी को देश और प्रदेश से उखाड़ फेंकेंगे।”

अखिलेश यादव ने भी कहा था

उल्‍लेखनीय है कि उत्‍तर प्रदेश में 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर छोटे दलों ने गठबंधन की पहल की है। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्‍यक्ष ओमप्रकाश राजभर ( Omprakash Rajbhar ) और AIMIM के अध्‍यक्ष ओवैसी के बीच पहले ही साझा कार्यक्रम के तहत चुनाव लड़ने की बात तय हो चुकी है। राजभर इन दिनों भागीदारी संकल्‍प मोर्चा के बैनर तले छोटे दलों को एकजुट करने में जुटे हैं और पिछले दिनों उन्‍होंने शिवपाल सिंह यादव ( Shivpal Singh Yadav ) से भी इस सिलसिले में मुलाकात की थी। सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) ने भी कहा था कि 2022 के चुनाव में वह छोटे दलों के लिए दरवाज़ा खुला रखेंगे।

यह भी पढ़ें: अगर आपने अभी तक WhatsApp की नई प्राइवेसी को स्वीकार नहीं किया है तो ये खबर जरूर पढ़े

Related Articles

Back to top button