पश्चिम बंगाल की राजनीति में ओवैसी ने बढ़ाई गर्मी, ममता की बढ़ी चिंता

नई दिल्ली: बिहार की राजनीति चमकाने के बाद ऑल इंडिया मजलिसे ए इत्तेहादुल मुसलमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की नजरें उत्तर प्रदेश के अलावा पश्चिम बंगाल की सरजमीं पर टिकी है। ओवैसी ने पश्चिम बंगाल में होने वाले विधानसभा चुनाव 2021 के लिए अपनी पार्टी के 8 नेताओं को नियुक्त किया है। अब देखना होगा कि ओवैसी (Owaisi) की ये चाल अब किसको भारी पड़ेगी एक तरफ ममता अपनी हुकूमत चला रही है दूसरी तरफ बीजेपी अपना कार्ड खेल रही है। ममता सरकार के लिए अब विधानसभा चुनाव 2021 चुनौती बन गया है।

AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने जिन नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी है, उनमें तेलंगाना के नामपल्ली से विधायक जफर हुसैन मेराज और विधान परिषद सदस्य मिर्जा रियाज उल हसन एफेंदी को कोलकाता और दक्षिण बंगाल की जिम्मेदारी मिली है। मुर्शिदाबाद, बीरभूम और नाडिया के लिए बिहार के अमौर से विधायक अख्तर उल ईमान, बिहार के एआईएमआईएम यूथ प्रेसिडेंट आदिल हुसैन को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है।

बिहार के जोकीहाट से विधायक शाहनवाज, बिहार के कोचाधमान से पार्टी विधायक हाजी मोहम्मद इजहर अस्फी को पर्यवेक्षक की जिम्मेदारी दी गई है। मालदा क्षेत्र के लिए बिहार के बैंसी से एआईएमआईएम विधायक सैयद रूकनुद्दीन अहमद और बिहार के बहादुरगंज से विधायक MLA अंजार नईमी को पर्यवेक्षक नियुक्त किया गया है।

ये भी पढ़ें : नोएडा एयरपोर्ट क्षेत्र में आने वाले निर्माण 15 मार्च तक हटाएं: योगी

मुस्लिम मतदाताओं पर टिकी नजर

आपको बता दे बिहार में मिली शानदार जीत के बाद असदुद्दीन ओवैसी ने उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल, असम राज्यों में चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। बंगाल में गर्मियों की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होंगे और ओवैसी की नजर राज्य के मुस्लिम मतदाताओं पर है, जहां उनका वोट शेयर 30 फीसदी के करीब है।

ये भी पढ़ें : राहुल गांधी को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी, कांग्रेस ने प्रस्ताव किया पारित

ओवैसी जिन नेताओं को पश्चिम बंगाल में होने वाले चुनाव के लिए नियुक्त किया है उनमे ज्यादातर उनकी पार्टी के हालिया चुने गए विधायक और विधानसभा सदस्य हैं। बिहार विधानसभा में पहली बार शानदार प्रदर्शन करते हुए पांच सीटों पर जीत हासिल की और हिंदी पट्टी के राज्य में दमदार उपस्थिति दर्ज कराई है।

 

Related Articles

Back to top button