ओवैसी, मायावती, ओपी राजभर समेत 6 ने बनाया बिहार में नया गठबंधन, उपेंद्र कुशवाहा होंगे मुख्यमंत्री के दावेदार

ओवैसी, मायावती, राजभर समेत 6 ने बनाया बिहार में नया गठबंधन, उपेंद्र कुशवाहा होंगे मुख्यमंत्री के दावेदार

पटना: बिहार में विधानसभा चुनाव के बीच एक नया गठबंधन बना है। इसमें असदुद्दीन ओवैसी की AIMIM और मायावती की बहुजन समाज पार्टी के साथ ही समाजवादी दल डेमोक्रेटिक, जनतांत्रिक पार्टी सोशलिस्ट और राष्ट्रिय लोक समता पार्टी शामिल है। इस गठबंधन को ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट नाम दिया गया है। रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा को इस गठबंधन का मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित किया गया है। गुरुवार को पटना में हुई इन सभी दलों की एक साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया गया।

इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा बोले कि इस गठबंधन के संयोजक देवेंद्र यादव होंगे और सभी दल एक साथ मिलकर चुनाव लड़ेंगे। बता दें कि देवेंद्र यादव की पार्टी के साथ असदुद्दीन ओवैसी ने पहले ही गठबंधन का ऐलान कर दिया था। महागठबंधन से अलग होने और एनडीएम में शामिल होने की नाकाम कोशिशों की बाद उपेंद्र कुशवाहा भी इसमें शामिल हो गए हैं।

ये भी पढ़ें : बिहार चुनाव: उपेंद्र कुशवाहा ने मैदान में उतारे अपने 42 प्रत्याशी, सूची जारी

प्रेस को सम्बोधित करते हुए AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि ‘पिछले 30 सालों की सरकार से बिहार को कोई लाभ नहीं हुआ है। नीतीश कुमार और बीजेपी के 15 साल और राष्ट्रीय जनता दाल-कांग्रेस के 15 साल के शासन के बाद भी बिहार के गरीबों की स्थिति जस की तस है। राज्य सामाजिक, आर्थिक और शिक्षा के क्षेत्र में अभी भी पीछे है। हमने बिहार के भविष्य के लिए इस गठबंधन को बनाया है और हमारी कोशिश होगी कि हम सफल हों।

महा गठबंधन और NDA दोनों फेल

प्रेस को उपेंद्र कुशवाहा ने बताया कि बिहार में महागठबंधन और NDA दोनों फेल हैं। नीतीश कुमार के 15 साल के शासन में राज्य और पीछे ही गया है। कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार ने बिहार की शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दिया गया है। पलायन के लिए युवा अभी भी मजबूर हैं।

ये भी पढ़ें : बलरामपुर में करंट लगने से 14 बच्चे झुलसे, तीन की हालत गंभीर

Related Articles