बूढ़े जवान सबके लिए फायदेमंद ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन, रिपोर्ट जल्द ही मेडिकल पत्रिका में होगी प्रकाशित

कंपनी के कोरोना वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावोत्पादकता को दर्शाता है।

नयी दिल्ली/लंदन: दुनिया भर में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के कारण मचे कोहराम के बीच एक अच्छी खबर यह है कि ब्रिटेन की ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका द्वारा विकसित की जा रही कोरोना वैक्सीन बुजुर्गों और वयस्कों दोनों पर अच्छा असर दिखा रही है।

ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन का हुआ परिक्षण

विदेशी मीडिया में आयी रिपोर्टों के मुताबिक, ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन देने के बाद बुजुर्गों में एंटीबॉडीज और टी सेल बने, जो कोरोना वायरस को मात देने में व्यक्ति को सक्षम बनाते हैं।कोरोना वैक्सीन के परीक्षण में शामिल बुजुर्ग वालंटियर्स की गत जुलाई में जारी ब्लड रिपोर्ट के आंकड़ों के विश्लेषण से यह तथ्य सामने आया है कि वैक्सीन देने के बाद उनमें अच्छी खासी मात्रा में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हुई है। इसके अलावा 18 से 55 साल की आयुवर्ग के वाॅलंटियर्स में भी इसका अच्छा प्रभाव दिखा।

रिपोर्ट जल्द ही मेडिकल पत्रिका में होगी प्रकाशित

एस्ट्राजेनेका ने आज कहा कि यह उत्साहवर्द्धक है कि बुजुर्गों और वयस्कों दोनों में कोरोना वायरस के खिलाफ अच्छी प्रतिरोधक क्षमता विकसित हुई और बुजुर्गों पर इस वैक्सीन का दुष्प्रभाव कम देखा गया। यह आंकड़ा हमारी कंपनी के कोरोना वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावोत्पादकता को दर्शाता है। यह रिपोर्ट जल्द ही मेडिकल पत्रिका में प्रकाशित होगी।

यह भी पढ़ें: नरोत्तम ने कहा विपक्ष का नेता तय करने के लिए लड़ रही है कांग्रेस चुनाव, नतीजे 10 नवंबर को

यह भी पढ़ें: हाउती विद्रोहियों ने आभा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हवाई हमला किया, याहिया सरिया ने किया ट्वीट

Related Articles

Back to top button