खतरे में OYO कर्मचारियों की नौकरी, बेरोजगार हुए एंप्लॉय

OYO ने 300 कर्मचारियों को नौकरी से निकाला, बिजनेस मॉडल में हुआ बदलाव

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के चलते होटल एवं हॉस्पिटेलिटी बिजनेस पर काफी गिरावट आई है। जिसके चलते (OYO) ओयो ने अपनी संचालन टीम में से लगभग 300 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है।

हॉस्पिटेलिटी बिजनेस पर नुकसान

कोरोना महामारी के चलते होटल एवं हॉस्पिटेलिटी बिजनेस पर काफी मार पड़ी है। जिसके चलते अब कंपनी अपनी लागत में कमी लाने की कोशिश कर रही है। ओयो सबसे कम किमत में एप द्वारा होटल की बुकिंग देता है। लेकिन कोरोना के कारण होटल के बिजनेस में कमी के चलके ओयो ने बीते सप्ताह 300 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है।

बिजनेस मॉडल में बदलाव

खबरों के मुताबिक ओयो के अधिकारियों के हवाले से बताया गया है कि “इस बदलाव के साथ, ओयो का 99% फ्रैंचाइज़ी व्यवसाय रेवेन्यू शेयरिंग में बदल जाएगा। हालांकि कुछ संपत्तियां अभी भी न्यूनतम गारंटी के तहत काम करेंगी। इसी बदलाव के चलते अब कंपनी को कम लोगों की जरूरत होगी।

संस्थापक का बयान

ओयो के संस्थापक और सीईओ ‘रितेश अग्रवाल’ ने सितंबर में कहा था कि कंपनी इस व्यावसायिक संकट के लिए तैयार नहीं थी लेकिन मार्च में लॉकडाउन के बाद कई महीनों तक होटलों में आक्यूपेंसी शून्य रही।

यह भी पढ़ेइस रेस्टोरेंट से शुरू हुई थी सोनिया की दास्तान-ए-मोहब्बत, बच्चन परिवार में हुई थी शादी

यह भी पढ़ेयूपी में बदमाशों के हौंसले बुलंद, बारातियों के साथ जमकर की लूटपाट

Related Articles

Back to top button