यूपी में दिखेगी पद्मावत,  लेकिन बीजेपी शासित 4 राज्यों में पद्मावत पर रोक लगी

0

नई दिल्ली । जाने-माने फिल्मकार संजय लीला भंसाली की इतने दिनों से चर्चे में चल रही विवादित फिल्म ‘पद्मावत’ का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। शायद इस तरह से पहली बार किसी फिल्म का विरोध हो रहा है। कहा जा रहा है इतिहास पर बनने वाली हर फिल्मों को विशेषज्ञों को दिखाई जानी चाहिए। जिससे फिल्म को लेकर कभी कोई विवाद नहीं हो पाए। फिल्म में राजपूत इतिहास से छेड़छाड़ और प्रदेश भर में इसका विरोध है।

25 जनवरी को रिलीज होगी पद्मावत

अनगिनत विवादों और फिल्म के टाइटल के बदलने के बाद सेंसर बोर्ड ने फिल्म को पास कर दिया था। अब आखिरकार ये फिल्म 25 जनवरी को रिलीज होने जा रही है। मशहूर ट्रेंड एनालिस्ट तरण आदर्श ने इस बात की जानकारी ट्वीट करके इसकी जानकारी दी थी। जानकारी के मुताबिक पद्मावत का पूरे देशभर में रिलीज होना मुश्किल नजर आ रहा है, लेकिन अभी ये तय कर पाना मुश्किल है कि ये फिल्म कहा रिलीज होगी कहा नही ।

यूपी में दिखेगी पद्मावत– बीजेपी के गढ़ गुजरात में फिल्म ना दिखाने की बात सामने आई तो मध्य प्रदेश में भी बीजेपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दावा किया कि ये फिल्म नहीं दिखाएंगे। तो दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने योगी आदित्यनाथ  इस फिल्म को दिखाने का फैसला कर लिया । उन्होंने कहा यूपी में तो फिल्म दिखेगी वही दूसरी ओर राजस्थान में भी बीजेपी ने फिल्म ना दिखाने का ही दावा किया गया है। चाहे गुजरात के सीएम विजय रुपाणी हों, मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज चौहान हों या फिर राजस्थान में वसुंदरा राजे सबका कहना वही है जिस पर करणी सेना अड़ी है। लेकिन उत्तर प्रदेश को संजय लीला भंसाली की इस फिल्म से कोई एतराज नहीं है। राजनीतिक पंडितों का कहना है कि चूंकि यूपी में विधानसभा चुनाव हो चुके हैं और राजस्थान, मध्यप्रदेश में होने वाले हैं तो राजपूत कार्ड का फायदा यहीं मिलेगा। ऐसे में क्या बीजेपी अपने एजेंडे को चुनावी फायदे के लिए इतना साफ रख सकती है या फिर प्रदेश दर प्रदेश, मुख्यमंत्री दर मुख्यमंत्री अलग-अलग ये डिसाइड कर सकते हैं कि किसे सपोर्ट करना है और किसे नहीं। बीजेपी शासन में ये अंतर कैसा ?

loading...
शेयर करें