LoC पर गोलीबारी मामले में पाक ने भारतीय राजदूत को किया तलब

0

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारत द्वारा ‘युद्ध विराम का उल्लंघन’ करने की निंदा करने के लिए शनिवार को फिर भारतीय उप उच्चायुक्त जे.पी. सिंह को तलब किया। पाकिस्तान ने कहा कि गोलीबारी के चलते नियंत्रण रेखा से सटे दाना सेक्टर में 18 अगस्त को भारतीय गोलीबारी में एक 65 वर्षीय शख्स की मौत हो गई, जबकि एक लड़का घायल हो गया।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता और दक्षिण एशिया शाखा के प्रमुख मोहम्मद फैजल ने भारतीय राजदूत को तलब किया और निकिआल सेक्टर में भारतीय सुरक्षा बलों द्वारा “बिना किसी उकसावे के किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन” पर कड़ा विरोध जताया। फैसल ने कहा, “नियंत्रण रेखा और वर्किं ग सीमा पर भारतीय सेना भारी हथियारों के साथ लगातार घनी आबादी वाले इलाकों को निशाना बना रही है।”

सीमा और नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी के बारे में जानकारी देते हुए विदेश मंत्रालय ने कहा कि 2018 में भारतीय सेनाओं ने नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर 1,900 से अधिक बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया है, जिसके परिणामस्वरूप 31 निर्दोष नागरिकों की मौत हुई है, जबकि 122 अन्य घायल हुए हैं। उन्होंने अपने बयान में कहा, “भारत द्वारा युद्धविराम के उल्लंघनों में यह अभूतपूर्व वृद्धि वर्ष 2017 से जारी है जब भारतीय सेना ने 1970 के युद्धविराम का उल्लंघन किया।”

प्रवक्ता ने कहा कि नागरिक आबादी वाले क्षेत्रों को जानबूझकर निशाना बनाया जाना निंदनीय और मानव गरिमा, अंतर्राष्ट्रीय मानवाधिकार और मानवीय कानूनों के खिलाफ है। पाकिस्तान और भारत ने 2003 में संघर्षविराम घोषित किया था। हालांकि, दोनों एक-दूसरे पर इसका उल्लंघन करने का आरोप लगाते रहते हैं।

loading...
शेयर करें