पाक की नापाक सोच, पाकिस्‍तानी विदेश मंत्री ने कहा- सलमान ‘मुस्लिम’ हैं इसलिए मिली जेल

लखनऊ। काला हिरण मामले में सलमान खान को सजा मिलना न सिर्फ भारत में चर्चा का विषय बना हुआ बल्कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में भी सुर्ख़ियों में है। इस मामले को लेकर पकिस्तान ने अपनी नापाक सोच फिर जाहिर की है। वहां के मीडिया चैनल इस मामले को जातिवाद का रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। इसी कड़ी में पाकिस्तानी न्यूज चैनल के एक शो के दौरान पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ शर्मनाक बयान दिया है।

सलमान खान

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख़्वाज़ा आसिफ़ ने आरोप लगाया कि सलमान खान अल्पसंख्यक हैं जिसकी वजह से ही उन्हें पांच साल की सजा दी गई है। इतना ही नहीं ख़्वाज़ा आसिफ़ ने सलमान की सज़ा के लिए इशारों में केंद्र सरकार को भी ज़िम्मेदार ठहराया।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री कैपिटल टॉक शो के दौरान एंकर हामिद मीर ने सलमान खान की सजा पर उनसे प्रतिक्रिया मांगी तो उन्होंने कहा कि वो भारत के माइनोरिटी कम्युनिटी से आते हैं भारत में माइनोरिटी के साथ भेदभाव होता है। इसलिए उन्हें ऐसे केस में सजा दी गई जो 20 साल पुराना है। भारत में माइनोरिटी के साथ ऐसा ही होता है। अगर वो उस समुदाय से आते जिसकी भारत में सरकार है को भारतीय अदालत का रवैया उनके साथ नरम होता।

ख़्वाज़ा आसिफ़ के इस बयान पर हंगाम मचा हुआ है। सलमान खान के मामले में भारत की मीडिया सहित पाकिस्तानी मीडिया भी पर बहस चालू है। आपको बता दें कि 20 साल पुराने इस मामले में जोधपुर की अदालत ने सलमान खान को गुरुवार को 5 साल की सजा सुनाई। सलमान अब तक काले हिरण का शिकार करने से लेकर मुंबई में फुटपाथ पर सो रहे लोगों को कुचलने के मामले में पांच बार जेल जा चुके हैं। वहीँ सलमान के जेल जाने की वजह से निर्माता परेशान हैं क्योंकि इंडस्ट्री में उनपर 600 करोड़ रूपए लगे हुए हैं।

ये है पूरा मामला- फिल्म ‘हम साथ-साथ हैं’ की शूटिंग के दौरान सलमान खान पर काले हिरण का शिकार करने के आरोप लगे थे। यह फिल्म साल 1998 में आई थी जिसकी शूटिंग जोधपुर में हो रही थी। इस केस में सलमान गिरफ्तार भी किया गया था। सलमान के कमरे से पुलिस ने 22 सितंबर, 1998 को रिवॉल्वर और राइफल बरामद की थी। वन अधिकारी ललित बोड़ा ने इस मामले में लूणी पुलिस थाने में 15 अक्टूबर, 1998 को सलमान के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी। एफआईआर के मुताबिक, सलमान खान ने 1-2 अक्टूबर, 1998 की दरमियानी रात कांकाणी गांव की सरहद पर दो काले हिरणों का शिकार किया था। इस केस को लगभग 20 साल हो गए हैं और अगर सलमान इस केस में दोषी पाए गए तो 6 साल की सजा हो सकती है।

Related Articles