भारत से बातचीत शुरू करने के लिए राजी पाकिस्तान ने रखी पांच शर्तें

नई दिल्लीः काफी लंबे समय के बाद पाकिस्तान भारत से बातचीत शुरू करने के लिए राजी हो गया है। हालांकि बातचीत का आगाज करने के पहले पाक ने भारत के सामने पांच शर्तें रखीं हैं।

दरअसल पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डॉ. मोइद यूसुफ ने कहा कि, पाकिस्तान भारत के साथ शांतिपूर्ण संबंध चाहता है और सभी विवादों का समाधान बातचीत के जरिए करना चाहता है। हालांकि भारत सरकार ने अभी तक पाकिस्तान के बातचीत के प्रस्ताव की आधिकारिक पुष्टि नहीं की है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार युसुफ ने भारत के साथ बातचीत शुरू करने की बात कही है। लेकिन इसके लिए उन्होंने पाकिस्तान की तरफ से भारत के सामने पांच शर्तें रखते हुए फिर से भारत के खिलाफ अपने बेबुनियाद आरोपों को दोहराया है।

युसुफ ने कहा कि भारत-पाकिस्तान में बातचीत फिर से शुरू करने के लिए – भारत को कश्मीर के सभी राजनीतिक कैदियों को रिहा करना होगा। कश्मीर से सारे प्रतिबंध हटाने होंगे। कश्मीर गैर-कश्मीरियों को बसाने वाले डोमिसाइल लॉ को रद्द करना होगा। भारत को कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन रोकना होगा और साथ ही पाकिस्तान में सरकार प्रायोजित आतंकवाद खत्म करना होगा।

गौरतलब है कि 5 अगस्त 2019 को केंद्र सरकार ने कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करते हुए अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया था और साथ जम्मू-कश्मीर को केंद्रशासित प्रदेश घोषित कर दिया गया था। जिसके बाद पाकिस्तान ने भारत सरकार के इस कदम की सख्त आलोचना करते हुए कश्मीर मामले को संयुक्त राष्ट्र सहित कई अतंर्राष्ट्रीय मंचों पर उठाने की कोशिश की थी। लेकिन पाक की यह कोशिश पूरी तरह से नाकाम रही।

Related Articles