बांग्लादेश में बेइज्जत हुए पाकिस्तानी क्रिकेटर

0

misbah

कराची। पाकिस्तानी क्रिकेटरों के बांग्लादेश जाने के अनुभव बहुत कड़वे साबित हुए हैं। बांग्लादेश प्रीमियर लीग में खेलने के लिए कुछ पाकिस्तानी क्रिकेटर टीम मालिकों और प्रबंधन द्वारा तवज्जो नहीं दिए जाने से नाराज हैं। कुछ को खेलने का मौका नहीं मिला तो कुछ बस एक-दो मैच ही खेल सके। सभी इस बात के लिए बेइज्जत महसूस कर रहे हैं।

कामरान अकमल, सईद अजमल, उमर अकमल, वहाब रियाज जैसे खिलाड़ी पकिस्तान लौट चुके हैं। लेकिन सबसे बड़ी बात है पकिस्तान क्रिकेट टीम के कैप्टन मिस्बाह उल हक़ की भी उपेक्षा।

वह रंगपुर राइडर्स के टीम में थे। लेकिन टीम के आखिरी सात मैचों में उनको शामिल नहीं किया गया। साथ ही उनकी जगह अन्य विदेशी खिलाड़ियों को मौका दिया जिसमें बांग्लादेश के मोहम्मद नबी भी शामिल हैं।

मिसबाह उल हक़  ने इस बारे में कहा है कि मैं इस बारे में ज्यादा कुछ नहीं बोल सकता लेकिन मुझे लगता है कि टीम मालिकों और कोचों को पता है कि उन्हें क्या चाहिए। लंबे समय तक बाहर बैठना आसान नहीं होता।

loading...
शेयर करें