Panchjanya ने ईस्ट इंडिया कंपनी से की अमेजॉन की तुलना

नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ से जुड़ी पत्रिका पॉन्चजन्य ने अमेजन की तुलना ईस्ट इंडिया कंपनी से की है। तीन अक्टूबर को प्रकाशित होने वाले अंक में Panchjanya ने लिखा है  कि अमेजन भारत पर एकाधिकार चाहती है। इसके लिए कंपनी भारत के लोगों की राजनीतिक, आर्थिक और व्यक्तिगत स्वतंत्रता की घेराबंदी शुरू कर दी है।

Panchjanya अमेज़न को बता चुकी है एंटी नेशनल

पॉन्चजन्य के अंक की कवर स्टोरी  अमेजन के कारोबार पर है। इस लेख में अमेजन की तुलना ईस्ट इंडिया कंपनी से की गई है। पांचजन्य का आरोप आरोप है कि अमेजन ने भारत में राजनीतिक, आर्थिक और व्यक्तिगत स्वतंत्रता की घेराबंदी शुरू कर दी है। अमेजन प्राईम के वीडियो में भारतीय संस्कृति पर हमला बोला गया है। इसमें पाताललोक और तांडव वेब सीरीज का हवाला देते हुए ये कहा गया है।

इस लेख में आगे कहा गया है कि अमेजन ई कॉमर्स के जरिये छोटे कारोबारियों के कारोबार कब्जा जमा रहा है। 2019  तक कंपनी का पैतीस परसेंट कोराबार दो प्रॉक्सी सेलर्स के जरिये हो रहा था। पॉन्चजन्य के इस लेख में आरोप लगाया गया है कि अमेजन की तरफ से क्लाउडटेल और एपीरियो नाम से दो प्रॉक्सी सप्लायर कंपनी बनाई गई है।

यह भी पढ़ें : सरकार जल्द ही करेगी नेशनल लैंड Monetisation कॉर्पोरेशन का गठन

Related Articles