पंचकूला हिंसा: बाबा की दुलारी हनीप्रीत की भी खुली पोल, हिंसा के दौरान की गई थी पूरी प्लानिंग

नई दिल्ली। जेल जाने के बाद अबतक राम रहीम के नए नए राज़ सामने आ रहे हैं। साथ ही बाबा की दुलारी हनीप्रीत के भी कुछ पोल अब खुली हैं। कहा जा रहा है 25 अगस्त 2017 को पंचकूला में हुई हिंसा के ठीक नौ महीने बात एसआईटी ने अदालत में सप्लीमेंट चार्जशीट दायर की है। वहीं शुक्रवार को यह नंबर-345 में आरोपी राकेश कुमार उर्फ गुरलीन के खिलाफ 550 पन्नों की चार्जशीट पेश की गई। जिसके बाद हिंसा के आरोपी राकेश ने बयान में कुछ और भी जानकारी दी हैं।

जानकारी के मुताबिक आरोपी राकेश डेरा प्रमुख राम रहीम और हनीप्रीत के बेहद करीब था। हिंसा के मामले उसका अहम रोल बताया जा रहा है। चार्जशीट के मुताबिक, गुरमीत के खास रहे राकेश इंसां ने बयान दिया है कि 17 अगस्त 2017 को डेरा सच्चा सौदा सिरसा में 45 मेंबरों की कमेटी की एक मीटिंग हुई थी। इसमें तय किया गया था कि पंचकूला में हिंसा फैलाने के लिए किसकी क्या भूमिका होगी। पूरी प्लानिंग हनीप्रीत और आदित्य इंसां ने फाइनल की थी।

कैसे हिंसा फैलानी है और कैसे गुरमीत को भगाकर ले जाना है। इसके लिए भी एक अलग टीम थी। गुरमीत को पुलिस से छुड़ाकर भगाने के मकसद के तहत ही पुलिस का गाड़ी की पीछा गया किया। लेकिन, ये लोग मंसूबे में कामयाब नहीं हुए।

Related Articles